मंत्री सम्राट चौधरी ने दी चुनौती, आंकड़ों के आधार पर बात करे महाराष्ट्र और दिल्ली सरकार

मंत्री सम्राट चौधरी ने दी चुनौती, आंकड़ों के आधार पर बात करे महाराष्ट्र और दिल्ली सरकार

PATNA: भाजपा नेता व बिहार सरकार में पंचायतीराज मंत्री सम्राट चौधरी ने दिल्ली और महाराष्ट्र सरकार को चुनौती देते हुए आँकड़ों के आधार बात करने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि विचारधारा से भटके हुए नेता इस राष्ट्रीय आपदा के समय भी राजनीति से बाज नहीं आते। कोविड से देशभर में कुल तीन लाख पंद्रह हजार मौतें हुई है. जिसमे लगभग एक तिहाई 91341मौत सिर्फ महाराष्ट्र में हुई है। ध्यान देने वाली बात है की महाराष्ट्र में शिव सेना कांग्रेस और एनसीपी गठबंधन की सरकार है।

सम्राट चौधरी ने कहा कि वर्तमान समय में देश कोरोना महामारी से जूझ रहा है। एक ऐसी बीमारी जो पूर्व से नही थी,जिसके लक्षण हर दौर में अलग है,जिसे हम वायरल समझते थे वो कब इंसान की जान ले ले कह नही सकते। देश और प्रदेश की सभी सरकारें उपलब्ध संसाधनों के आधार पर अपनी सम्पूर्ण क्षमता का उपयोग इस बीमारी से आम और आवाम की जिंदगी बचाने में कर रही है। लेकिन बड़ा अफसोस तब होता है जब कुछ अपनी विचारधारा से भटके हुए नेता इस राष्ट्रीय आपदा के समय भी राजनीति से बाज नहीं आते। आप जानकर बड़े आश्चर्य चकित होंगे की कोविज-19 से अबतक देश में कुल तीन लाख पंद्रह हजार मौत हुई है. जिसमे लगभग एक तिहाई 91341मौत सिर्फ महाराष्ट्र में हुई है। ध्यान देने वाली बात है की महाराष्ट्र में शिव सेना कांग्रेस एन सी पी की सरकार है। वहां न तो चुनाव हुए और न ही कुंभ और न ही बीजेपी की सरकार। बड़ा सवाल है कि आखिर इन सब बातो के बावजूद विपक्षियों का टारगेट सिर्फ मोदी क्यूं?

मंत्री सम्राट चौधरी ने कहा कि बिहार और महाराष्ट्र की आबादी लगभग बराबर होने के बावजूद बिहार में कुल मौत 4845 है। दिल्ली वाले केजरीवाल अपने इंटरनेशनल मोहल्ला क्लिनिक की चर्चा करते नही थकते. दिल्ली की आबादी एक करोड़ नब्बे लाख के करीब है और मौत हुई 23695 यानी की बिहार से 6 गुणा ज्यादा. जबकि आबादी बिहार की आबादी का 16 प्रतिशत। वहीं सबसे बड़ी आबादी वाले प्रदेश उत्तर प्रदेश की आबादी 23 करोड़ 15 लाख के करीब है. वहां भी कुल मृत्यु का आंकड़ा 19899 ही है।महाराष्ट्र और दिल्ली में शहरीकरण ज्यादा है वहां हेल्थ इंफ्रा बेहतर कहे जाते हैं. उत्तर प्रदेश और बिहार की ग्रामीण आबादी ज्यादा है और हेल्थ इंफ्रा भी अभी डेवलप हो रहा है। बावजूद इसके हम ये नही कहना चाहते की हम पूर्णतः सक्षम हैं। हमारे देश का हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर इस आपदा के लिए तैयार नहीं था फिर भी आप मृत्यु के आंकड़ों से समझ सकते है की कौन सी सरकार कितनी संवेदनशील है। विपक्षी नेताओं पर हमला बोलते हुए सम्राट चौधरी ने कहा कि भाजपा विरोधियों थोड़ा संयम रख लो बहुत अवसर मिलेगा विरोध करने का. अभी तो देशवासियों की सेवा कर लो।अपनी सरकार के सद्प्रयासों से कदम ताल कर लो।

Find Us on Facebook

Trending News