बिहार विधानसभा अध्यक्ष के विधायक प्रतिनिधि करेंगे आमरण अनशन, नगर परिषद बड़हिया में व्यापक भ्रष्टाचार का आरोप

बिहार विधानसभा अध्यक्ष के विधायक प्रतिनिधि करेंगे आमरण अनशन, नगर परिषद बड़हिया में व्यापक भ्रष्टाचार का आरोप

लखीसराय. नीतीश सरकार में भ्रष्टाचार का आरोप विपक्ष के नेता लगाते रहे हैं. अब बिहार विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा के लखीसराय विधायक प्रतिनिधि एवं नगर परिषद बड़हिया के पूर्व उपाध्यक्ष प्रमोद कुमार ने भी नगर परिषद बड़हिया में व्यापक स्तर पर भ्रष्टाचार और वित्तीय अनियमितता का आरोप लगाया है. उन्होंने नगर परिषद में व्याप्त कथित भ्रष्टाचार के खिलाफ 24 जून से आमरण अनशन एवं धरना देने की घोषणा की है. 

आमरण अनशन को लेकर उन्होंने लखीसराय जिला अधिकारी को पत्र लिखा है. उन्होंने 10 सूत्री मांग को लेकर आमरण अनशन करने का निर्णय लिया है. नगर परिषद के वार्ड नंबर 21 निवासी प्रमोद कुमार कहना है कि विगत वर्ष 2019 से 2022 तक नगर परिषद में की योजनाओं में करोड़ों रुपए का भ्रष्टाचार हुआ है. 


नगर परिषद बड़हिया के कार्यपालक पदाधिकारी के खिलाफ वित्तीय अनियमितताओं की जांच को लेकर बिहार के उपमुख्यमंत्री, विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा, नगर विकास विभाग के मंत्री और मुंगेर सांसद ललन सिंह को आवेदन दिया बावजूद इसके आज तक कोई कार्रवाई या जांच नहीं हुई. 

प्रमोद कुमार ने जिन क्षेत्रों में भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है उसमें आवास योजना, नगर परिषद में डीजल की लूट, स्ट्रीट लाइट लगाने में फर्जीवाड़े, सफाई कर्मियों की फर्जी दस्तावेज से लाखों रुपए की निकासी, स्वच्छता अभियान के नाम पर सामान की खरीदारी में अनियमितता और करोड़ों रुपए का बंदरबांट, दुर्गा पूजा, दीपावली एवं छठ के नाम पर लाखों रुपए फर्जी निकासी, नल जल योजना में नियमों का दुरुपयोग कर बड़ी लूट, सड़कों के निर्माण में अनियमितता बरतकर पैसे निकालने सहित कई अन्य प्रकार की लूट खसोट का जिक्र किया है. उन्होंने कहा कि हम इसी को लेकर 24 जून से आमरण अनशन करेंगे. 


Find Us on Facebook

Trending News