दिवाली पर भारत-पाक बॉर्डर पर मनी खुशियां, तीन साल बाद भारतीय सेनाओं ने पाक सेनाओं को बांटी मिठाइयां

दिवाली पर भारत-पाक बॉर्डर पर मनी खुशियां, तीन साल बाद भारतीय सेनाओं ने पाक सेनाओं को बांटी मिठाइयां

Desk. दिवाली के अवसर पर भारतीय सेनाओ ने तीन साल बाद पाकिस्तानी सेनाओं को मिठाइयां बांटी. तीन साल पहले पुलवामा हमले के चलते भारत-पाक बॉर्डर पर दिवाली पर मिठाइयां बटनी बंद हो गयी थी. बता दें कि त्योहारों पर भारत-पाक सीम पर आजादी के बाद से ही मिठाइयां बांटने की परंपरा है. इस बीच एक बार फिर भारतीय सेनाओं ने पाकिस्तानी सेनाओं को मिठाइयां खिलाई. 

जम्मू-कश्मीर, पंजाब और राजस्थान में सीमा पर तीन साल के अंतराल के बाद भारतीय सुरक्षा बलों के जवानों ने पाकिस्तानी सैनिकों को दिवाली की मिठाई खिलाई. बता दें कि मिठाइयां बांटने की इस परंपरा पर दोनों देशों के बीच होने वाले तनाव का असर पड़ता रहा है. दिवाली पर मिठाई बांटने की परंपरा भी कश्मीर के पुलवामा में भारतीय जवान के काफिले पर आत्मघाती हमले के बाद से बंद हो गई थी. इसके बाद से पिछले तीन साल में दोनों देशों ने आपस में मिठाई नहीं बांटी थी.

राजस्थान के बाड़मेर जिले में भारत-पाक इंटरनेशनल बॉर्डर पर बीएसएफ और पाक रेंजर्स के बीच मिठाइयों का आदान-प्रदान हुआ. साथ ही दिवाली की शुभकामनाएं दी गईं. मुनाबाव, गडरारोड़, कैलनोर, बाखासर की चौकियों पर बीएसएफ की तरफ से बाड़मेर जिले के प्रसिद्ध गडरा (कस्बा) के लड्‌डू के साथ-साथ अन्य मिठाइयों के पैकेट भेंट किए. पाकिस्तानी सैनिकों ने भी अपने यहां की मशहूर मिठाइयां बीएसएफ जवानों को दी.


Find Us on Facebook

Trending News