मोतिहारीः 2021 में पुलिस-नेताओं के कारनामे चर्चा में रहे, कभी अपराधी तो कभी पुलिस पड़ी भारी, खट्टी-मीठी यादों के साथ 'साल' का अंतिम पड़ाव

मोतिहारीः 2021 में पुलिस-नेताओं के कारनामे चर्चा में रहे, कभी अपराधी तो कभी पुलिस पड़ी भारी, खट्टी-मीठी यादों के साथ 'साल' का अंतिम पड़ाव

MOTIHARI: साल 2021 अपने अंतिम पड़ाव पर है। गांधी की कर्म भूमि कहे जाने वाले पूर्वी चंपारण में 2021 में अपराधियों व पुलिस के बीच शह-मात का खेल चलता रहा । कभी पुलिस भारी पड़ी तो कभी अपराधी.कभी अपराधी तो कफी पुलिस दोनों चर्चा में रहे। इस साल कई बच्चों के ऊपर से पिता का साया छीन गया तो कई महिलाओं की सुहाग उजड़ गया । मोतिहारी में इस साल हरसिद्धि ,कुड़वाचैनपुर,तुरकौलिया ,कोटवा ,जीतना,मुफस्सिल,रक्सौल समेत कई थाना सुर्खियों में रहा। हरसिद्धि थाना पैक्स अध्यक्ष पवन गुप्ता, पत्रकार मनीष कुमार व आरटीआई कार्यकर्ता विपिन अग्रवाल की हत्या को लेकर सुर्खियों में रहा । वही कुड़वा चैनपुर थाना तत्कालीन थानेदार संजीव रंजन के सहयोग से आरोपियों ने गैंग रेप के बाद हत्या की गई युवती का शव जलवाने में मदद करने को लेकर सुर्खियों में रहा। थानेदार पर प्राथमिकी दर्ज होने के बाद भी पुलिस गिरफ्तार नही कर सकी। वहीं दूसरी तरफ पुलिस के लिए भी उपलब्धि भरा वर्ष रहा । पुलिस ने लगभग 1122 हत्या,लूट ,रंगदारी,महिला उत्पीड़न सहित संगीन मामलों के आरोपियों को गिरफ्तार किया. वहीं 228 आरोपियों ने पुलिस दबिश के कारण न्ययालय में सरेंडर किया।

अपराधियो ने 16 मार्च को दिनदहाड़े हरसिद्धि थाना के मटियरिया चौक पर पैक्स  अध्यक्ष सह खाद व्यव्सायी पवन गुप्ता को गोलियों से भून दिया. आक्रोशित ग्रामीणों ने हत्या कर भाग रहे अपराधियो को पुलिस के कब्जे से छीनने के लिए सड़क जाम कर जमकर हंगामा किया । जिसमें पुलिस व ग्रामीणों के बीच जमकर पथराव ,लाठीचार्ज व आत्मरक्षा में पुलिस को हवाई फायरिंग भी करनी पड़ी। वहीं हरसिद्धि थाना क्षेत्र में ही युवा पत्रकार मनीष की निर्मम हत्या कांड व सरकारी जमीन से अतिक्रमण खाली कराने को लेकर 24 सितंबर को दिनदहाड़े प्रखण्ड गेट पर RTI कार्यकर्ता विपिन अग्रवाल की गोलियों से भून डाला गया। इसमें भी पुलिस-प्रशासन व नेताओं की भूमिका की खूब चर्चा हुई। सत्ताधारी दल के एक नेता के बारे में भी गंभीर सवाल खड़े हुए। हालांकि पुलिस-प्रशासन की भूमिका भी संदेहास्पद रही। वहीं रक्सौल में जमीन को लेकर स्वर्ण व्यवसायी कपिलदेव सर्राफ व भतीजा चंदन सर्राफ हत्याकांड भी सुर्खियों में रहा । इस डबल मर्डर में राजनीतिक दल नेता सहित पुलिस की भूमिका की भी खूब चर्चा हुई।

वहीं छतौनी थाना क्षेत्र में डकैती के दौरान स्वर्ण व्यव्सायी की हत्या भी चर्चा का विषय बना रहा । वर्ष में चोरों ने भी पुलिस को कम चुनौती नही दिया । एक ही रात में चोरों ने कोटवा व तुरकौलिया से एटीएम काटकर व एटीएम मशीन उखाड़कर लाखों रू ले गए । घटना में पुलिस की हाथ अभी खाली ही था कि चोरों ने तीसरी घटना को भी अंजाम दे दिया। कोटवा ओवरब्रिज के पास से एटीएम का सेफ काटकर पैसे चुरा लिये गये। वहीं 2021 में जिले के मुफस्सिल थाना क्षेत्र में मधुबनी घाट  डकैती के दौरान फ्लाई फैक्ट्री के मालिक के भतीजे की गोली मारकर हत्या ,जीतना थाना में प्रेम विवाह से नाराज लड़की के परिजनों द्वारा दिलदहलाने वाली घटना सहित कुछ और बड़ी घटनाएं जिले वासियों के लिए बड़ा जख्म दे गया। घाव भरने में पीड़ित परिवार को व भुलाने में जिला  वासियों को बड़ा समय लगेगा । 

वहींं दूसरी तरफ पुलिस कारनामे को लेकर पुलिस विभाग सुर्खियों में रहा। तुरकौलिया थाना में एसपी के निर्देश पर छापेमारी की गई थी । जिसमे बिना जब्ती सूची के भारी मात्रा में शराब बरामद किया गया था । जिसमे थानेदार व उसके प्राइवेट चालक सहित कई पर केस दर्ज किया गया था। वहीं मधुबन थाना के तत्कालीन थानेदार विपिन सिंह के शराब कारोबारी से मिलीभगत का वायरल ऑडियो भी चर्चा में रहा । जिसे एसपी ने रिटायर्ड होने के कुछ दिन ही पहले बर्खास्त कर दिया था। वहीं कुड़वा चैनपुर थाना में वर्ष के शुरुआत में ही एक नेपाली युवती को गैंग रेप के बाद हत्या कर दिया गया । तत्कालीन थानेदार सतीश रंजन ने आरोपियों पर कार्रवाई के बदले उनसे मिलकर किरोसिन तेल छिड़ककर शव को जलवाने में मदद करने का भी वायरल ऑडियो काफी चर्चा का विषय बना रहा । कुड़वाचैनपुर थाना में प्राइवेट आदमी से कार्य करने व वसूली के का वायरल वीडियो भी कम चर्चा नही रहा। जबकि हरसिद्धि थाना में रिश्वत लेने के वायरल वीडियो में एसपी ने दरोगा व रिश्वत देने वाले दोनों को जेल भेजने की घटना भी कम सुर्खियों में नही रहा.

वर्ष 2021 पुलिस के लिए भी सफलता का साल भी रहा। अपराधियो के घटना को अँजाम देने के बाद कई केस में एसपी ने त्वरित कार्रवाई भी की।  घटना के साथ ही एसआईटी गठित कर घटना का उद्भेदन किया गया । कई अपराधियो को जिला के बाहर से टेक्निकल शाखा के सहयोग से पकड़कर सलाखों के अंदर भेजा गया ।पुलिस ने हत्या,लूट सहित संगीन अपराधों में शामिल 1122 आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेजा.वहीं पुलिस दबिश पर 228 आरोपियों ने कोर्ट में सरेंडर किया । पुलिस ने 141 आर्म्स, 353 गोली,दो लाइट पिस्टल,एक एयरगन,आठ खोखा,आठ मैगजीन,63.57 किलो चरस,771.25 किलोग्राम गांजा,एक किलो मार्फिन,35 किलो अफीम,121 ग्राम स्मैक ,982 चोरी के वाहन,9.40 लाख भारतीय व 22 हज़ार 600 नेपाली नोट,436 तस्करी के पशु,162 पीस मोबाइल ससमेत अन्य सामान जब्त किया है। 

मोतिहारी से हिमांशु की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News