टापू में तब्दील हुआ मोतिहारी सदर अस्पताल, मरीजों की बढ़ी परेशानी

टापू में तब्दील हुआ मोतिहारी सदर अस्पताल, मरीजों की बढ़ी परेशानी

MOTIHARI : पूर्वी चम्पारण जिले में लगातार हो रही मूसलाधार बारिश के कारण एक ओर जहां पूरे जिले में भारी जलजमाव की समस्या उत्पन्न हो गयी है। वही मोतिहारी सदर अस्पताल टापू में तब्दील हो चुका है। पिछले दो दिनों से ये अस्पताल टापू में तब्दील है। लेकिन किसी को इसकी जरा भी फिक्र नहीं है। आलम ये है कि मरीज व उसके परिजन सहित अस्पताल कर्मी नारकीय जीवन जीने को विवश है और दो से तीन फीट पानी में चलकर अपना इलाज करवाने को विवश हैं.

इस सदर अस्पताल पर 50 लाख लोगों के स्वास्थ्य के देखभाल की जिम्मेवारी है. इस अस्पताल में  रोज़ाना सैकड़ों मरीजों का इलाज होता है. सरकार स्वास्थ्य विभाग में सुधार के कई दावे करती है. लेकिन आज ये अस्पताल टापू में तब्दील है. चारों ओर पानी का साम्राज्य कायम है. यहां आए मरीजो व उनके परिजनों सहित यहां के डॉक्टरों व स्वास्थ्यकर्मियों को पानी में चलकर अस्पताल आना जाना पड़ता है. 

मोतिहारी नगर निगम की लापरवाही से आज ये अस्पताल पानी में तैर रहा है. यहां के उपकरण और गाड़ियां पानी में खड़ी है.इतनी बड़ी समस्या होने के बावजूद न तो किसी जनप्रतिनिधि को इसकी चिंता है और न किसी अधिकारी अथवा अस्पताल प्रबंधन को.अस्पताल  प्रबंधन  की स्थिति ये है कि इतनी बड़ी समस्या होने के बावजूद अबतक कोई कारगर कदम नहीं उठाया है. यहां तक कि इसने नगर निगम को इसकी सूचना तक नहीं दी है. 

अस्पताल के टापू में तब्दील होने के कारण सबसे ज्यादा परेशान यहां आयी महिलाओं को हो रही है. जिन्हें इस पानी के कारण अपना कपड़ा ऊपर कर व हांथो में अपना चप्पल रख बीच पानी मे चलने व इलाज करवाने की मजबूरी हो रही है.

मोतिहारी से हिमांशु कुमार की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News