मुकेश सहनी के विधायक राजू सिंह का तेवर तल्ख, कहा - तय कीजिए गठबंधन में रहना है या नहीं, सरकार में रहकर सरकार पर सवाल नहीं उठा सकते

मुकेश सहनी के विधायक राजू सिंह का तेवर तल्ख, कहा - तय कीजिए गठबंधन में रहना है या नहीं, सरकार में रहकर सरकार पर सवाल नहीं उठा सकते

PATNA : भाजपा-जदयू के खिलाफ बगावत का बिगूल फूंकनेवाल वीआईपी सुप्रीमो मुकेश सहनी की अपनी ही पार्टी में विरोध के स्वर सुनाई देने लगे हैं। उनके अपने ही विधायक ने मुकेश सहनी पर सवाल उठाते हुए कहा कि वह क्या निर्णय लेते हैं, इसको लेकर अपने विधायकों से कभी बात नहीं करते हैं। यह आरोप लगाया है वीआईपी विधायक राजू सिंह  ने कहा एनडीए बैठक में शामिल नहीं होना गलत फैसला था, हमलोग को राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा बैटक में शामिल नहीं होना है, इसलिए हमलोग नहीं गए। इस मुद्दे पर हम सभी विधायक पार्टी अध्यक्ष से बात करेंगे।

पार्टी में तालमेल की कमी

जहां मुकेश सहनी ने भाजपा-जदयू पर आरोप लगाया कि गठबंधन में उनकी बात को नहीं सुनी जाती है। लगभग यही आरोप राज सैनी ने भी मुकेश सहनी के लिए कह दी है। उन्होंने कहा कि पार्टी में कोई तालमेल नहीं है। यह शुरू से ही पार्टी में नजर आ रहा है। यही कारण है कि पार्टी के सारे सार्वजनिक फैसले पर सामूहिक निर्णय नहीं लिया जा रहे हैं। यहां तक कि पार्टी अध्यक्ष से नियमित बात भी नहीं होती है।  

लेना होगा फैसला

राजू सिंह ने कहा अगर मुकेश सहनी को लगता है कि एनडीए में उनको सम्मान नहीं दिया जा रहा है तो सीधे गठबंधन से अलग हो जाना चाहिए। ऐसे नहीं चलेगा कि गठबंधन में बने भी रहें और गठबंधन पर ही सवाल उठाएं। पार्टी अध्यक्ष को इस पर फैसला लेना होगा। 

सहनी के आरोपों को बताया गलत

इस दौरान उन्होंने मुकेश सहनी के उन आरोपों को भी गलत बता दिया जिसमें पार्टी अध्यक्ष ने यहा आरोप लगाया कि बिहार के अधिकारी मंत्रियों की बात नहीं सुनते हैं। उन्होंने कहा कि वह 20 साल से विधायक रहे हैं, लेकिन मेरे साथ कभी ऐसा नहीं हुआ है। इसलिए मुझे नहीं लगता कि इन आरोपों में कोई दम है।



Find Us on Facebook

Trending News