नालंदा सिविल सर्जन ने अस्पताल उपाधीक्षक को किया निलंबित, दो भाईयों को कोवैक्सीन की जगह कोविशिल्ड देने पर हुई कार्रवाई

नालंदा सिविल सर्जन ने अस्पताल उपाधीक्षक को किया निलंबित, दो भाईयों को कोवैक्सीन की जगह कोविशिल्ड देने पर हुई कार्रवाई

NALANDA : सोमवार से 15 से 18 साल आयुवर्ग के बच्चों के लिए कोरोना टीकाकरण की शुरुआत कर दी गयी है। इस बीच नालंदा जिले में दो भाईयों को कोवैक्सीन की जगह कोविशिल्ड दिए जाने का मामला सामने आया था। इस खबर को NEWS4NATION ने भी प्रमुखता से लिखा था। इस मामले में  सिविल सर्जन की ओर से बड़ी कार्रवाई की गयी है। 

उन्होंने अस्पताल उपाधीक्षक को ड्यूटी बांटने में लापरवाही करने के मामले में निलंबित कर दिया है। सदर अस्पताल के उपाधीक्षक सुजीत कुमार अकेला को निलंबित करते हुए अब रामनंदन प्रसाद को नया उपाधीक्षक बनाया गया है। सिविल सर्जन सुनील कुमार ने बताया कि ड्यूटी बांटने में भारी लापरवाही बरती गई है। जो एएनएम पूर्व से टीका लगा रही थी। वह कोरोना पॉजिटिव हो गई थी। उसकी जगह अनट्रेंड एएनएम को ड्यूटी पर लगाया गया था। जिससे यह बड़ी लापरवाही हुई है। इसी लापरवाही में डीएस को निलंबित कर दिया गया है। साथ ही 48 घंटे के भीतर टीका देने वाले एएनएम से भी स्पष्टीकरण की मांग की गई थी।

बताते चलें की बिहारशरीफ के प्रोफेसर कॉलोनी निवासी निरंजन कुमार के पुत्र पीयूष रंजन और आर्यन किरण को कोवैक्सीन की जगह कोविशिल्ड का टीका लगा दिया गया था। जिसके बाद सीएस ने डीएस से स्पष्टीकरण मांगा था। जवाब संतोषजनक नहीं मिलने पर सीएस ने आज कार्रवाई करते हुए डीएस सुजीत कुमार अकेला को निलंबित कर दिया है।

नालंदा से राज की रिपोर्ट 


Find Us on Facebook

Trending News