नालंदा जिला चावल जमा कराने में सूबे में बना अव्वल, राज्य खाद्य निगम के गोदामों में पहुंचा 319 टन उसना चावल

नालंदा जिला चावल जमा कराने में सूबे में बना अव्वल, राज्य खाद्य निगम के गोदामों में पहुंचा 319 टन उसना चावल

NALANDA : किसानों से धान क्रय के साथ ही नालंदा में चावल प्राप्ति भी शुरू हो गयी है। धान के बदले उसना चावल जमा लेने वाला नालंदा सूबे का पहला जिला हो गया है। 319 मीट्रिक टन चावल निगम के गोदामों में पहुंच गया है। 209 में से 96 पैक्स व एक व्यापार मंडल धान खरीदने में लगे हैं। अब तक 422 किसानों से तीन हजार 457 टन धान खरीद हुई है। धान बेचने वाले 184 किसानों के खाते में 2 करोड़ 96 लाख 47 हजार 334 रुपये का भुगतान भी डीएमएफसी की तरफ से हो चुकी है। 

डीएम योगेंद्र सिंह के आदेश पर बाजार समिति स्थित नीरा प्लांट के गोदाम में चावल लिये जाने का शुरुआत हुआ। डीडीसी वैभव श्रीवास्तव, डीएसओ प्रमोद कुमार, डीसीओ सत्येंद्र कुमार व वरुण कुमार सिंह, सभी प्रखंड सहकारिता पदाधिकारी, सभी सहायक प्रबंधक की उपस्थिति में चावल जमा लिया गया। डीएसओ प्रमोद कुमार ने बताया कि नीरा प्लांट के गोदाम संख्या 6 में 57 हजार टन स्टॉक होगी। 

पब्लिक डिस्ट्रिब्यूशन सिस्टम के लाभुकों के फूड हैबिट को ध्यान में रखते हुए उसना चावल मिलों से ही चावल लिया जा रहा है। नालंदा में उसना चावल मिलों की मिलिंग क्षमता 78 टन प्रति घंटा है। समय पर पैक्स व व्यापार मंडल धान क्रय करता है, तो मिलिंग क्षमता के अनुसार मई 2022  माह तक ही चावल प्राप्त हो जाएगा। चावल जमा लिये जाने के लिए अंतिम तारीख 31 जुलाई  2022 तय है। समारोह में उपस्थित सभी व्यक्तियों को उसना चावल का सैंपल दिखाया गया। लोगों ने प्रसन्नता जाहिर की है।

नालंदा से राज की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News