नालंदा जिले के सात सीटों पर कल होंगे चुनाव, जिला प्रशासन ने की पूरी तैयारी

नालंदा जिले के सात सीटों पर कल होंगे चुनाव, जिला प्रशासन ने की पूरी तैयारी

NALANDA : 3 नवंबर को नालन्दा जिले के सात विधान सभा क्षेत्रों में वोट डाले जाएंगे. इसे लेकर सोमवार को  जिलाधिकारी योगेंद्र सिंह और एसपी निलेश कुमार ने संयुक्त रूप से मतदान कर्मियों के साथ मीटिंग कर शांतिपूर्ण और निष्पक्ष चुनाव कराने का निर्देश दिया. मतदान के लिए कुल 3 हजार 168 बूथ बनाए गए हैं. 2 हजार 248 पहले से थे और 920 बूथ कोरोना के कारण बढ़ाए गए हैं. सभी को मिलाकर उसमें न तो कोई अति संवेदनशील और न ही सामान्य, बल्कि केवल संवेदनशील हैं. इनमें से 45 बूथ नक्सल प्रभावित हैं. सबसे अधिक इस्लामपुर में 21 बूथ हैं. जबकि सात में से 5 विधानसभा क्षेत्र के कुछ न कुछ बूथों को नक्सल प्रभावित के तौर पर चिंहित किया गया है. अन्य के मुकाबले इन सबों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए जाएंगे. 

जिलाधिकारी ने क्या कहा

डीएम योगेन्द्र सिंह ने बताया कि तेलहाड़ा के प्राथमिक विद्यालय बूथ के अलावा गोसाईं बिगहा, प्राथमिक विद्यालय शिवशंकरपुर, मंडाछ के 3 बूथ, जैतीपुर व कोरथू बूथ को नक्सल प्रभावित के तौर पर चिन्हित किया गया है. इसी तरह, इस्लामपुर मिरजान बिगहा का 2 बूथ, चंदनपुरा, मेढ़ी, पती बिगहा, सोनावां व पकड़िया, सहोजना, चैनपुर व बनारसी बिगहा में 2-2 बूथ, केबई, मोहम्मदपुर,  पथलोबा, गुलाबनगर और बनबाग में 1-1 बूथ नक्सल प्रभावित के तौर पर चिंहित किए गए हैं. करायपरसुराय में सलेमपुर, अमात के अलावा रधू बिगहा और अमात का 2-2 बूथ चिंहित किया गया है. उन्होंने बताया कि हिलसा का बलवापर व मुरारपुर के अलावा कुसेता, पेंदार, नवगढ़ भदौल में 2-2 बूथ नक्स्ल प्रभावित के तौर पर चिंहित हुए हैं. इसी तरह राजगीर के नेकपुर का 3 बूथ के अलावा जती भगवानपुर, चैनपुर,  दोगी और गोगौर के 2-2 बूथ व चैनपुर और माली साढ़ के 1-1 बूथ को चिंहित कर यहां सुरक्षा के बेहतर इंतजाम के आदेश दिए गए हैं. 

सातों विधानसभा क्षेत्र को मिलाकर 21 सखी मतदान केन्द्र बनाए गए हैं. इन मतदान केन्द्रों पर न केवल महिलाएं वोट करेंगी. बल्कि, यहां कर्मी से लेकर पुलिस के जवान तक केवल महिला ही होंगी. इसी तरह दिव्यांग मतदाताओं के लिए सातों विधान सभा में एक-एक मतदान केन्द्र बनाए गए हैं. इसके अलावा जिलेभर में कुल 29 मतदान केन्द्र को मॉडल केन्द्र बनाया गया है. उन्होंने बताया कि सातों विधानसभा क्षेत्र को मिलाकर कुल 21 लाख 70 हजार 709 वोटर हैं. इसमें 11 लाख 46 हजार 700 पुरुष मतदाता हैं. इन मतदाताओं में 16 हजार 842 दिव्यांग मतदाता हैं. इसके साथ ही जिले में 21 बूथ महिलाओं के कब्जे में होंगे. यहां मतदान कर्मी से लेकर सुरक्षा कर्मी तक महिलाएं होंगी. जबकि, जिले के 215 बूथों पर महिला मतदान कर्मियों को लगाया जाएगा. इसके अलावा, 791 बूथों पर महिला-पुरुष दोनों कर्मी तैनात रहेंगे. दिव्यांगों के लिए 7 बूथ बनाए गए है. कुल मिलाकर जिलेभर में इस बार 29 बूथ मॉडल बनया जाएगा. 

ये बनाए गए हैं मॉडल बूथ 

1. सरमेरा के मध्य विद्यालय प्यारेपुर 2. अस्थावां के मध्य विद्यालय धोबी बिगहा 3. कतरीसराय के उत्क्रमित विद्यालय कतरीडीह का उत्तरी व दक्षिणी भाग 4. रहुई के उत्क्रमित मध्य विद्यालय इमामगंज पूर्वी व पश्चिमी भाग 5. बिहारशरीफ में नगर निगम का नया भवन, उत्तर पश्चिम मध्य भाग व टेक्निकल कक्ष 6. बिहारीशरीफ विधानसभा के उत्क्रमित मध्य विद्यालय महानंदपुर का पूर्वी व पश्चिमी भाग 7. गिरियक के उत्क्रमित मध्य विद्यालय पोखरपुर का उत्तरी व दक्षिणी भाग 8. करायपरसुराय हाईस्कूल का उत्तर भाग 9. हिलसा का नगर परिषद भवन 10. मध्य विद्यालय भत्हर 11. उच्च विद्यालय नगरनौसा का उत्तरी, दक्षिणी व मध्य भाग 12. उत्क्रमित मध्य विद्यालय कल्याण बिगहा के पूरब व पश्चिमी भाग. नालंदा एसपी निलेश कुमार ने  बताया कि  चुनाव भयमुक्त व पारदर्शी होगा. इसकी तैयारी पूरी कर ली गई है. 300 बूथों पर ब्रॉडकास्टिंग तो 285 बूथों पर वीडियोग्राफी की जाएगी. सभी बूथों पर अर्द्धसैनिक बल के जवान तैनात रहेंगे. किसी भी हाल में बूथ पर गड़बड़ी बर्दाश्त नहीं की जाएगी. रविवार को कलेक्ट्रेट में प्रेस वार्ता के दौरान डीएम योगेन्द्र सिंह व एसपी नीलेश कुमार ने कहा कि भयमुक्त चुनाव के लिए पुलिस-प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद है. 

सभी बूथों पर सुबह 7 से शाम 6 बजे तक वोट डाले जाएंगे. हर बूथ पर अर्द्धसैनिक बल व जिला पुलिस के अलावा एक-एक की संख्या में पीओ, पी वन, पी टू और पी थ्री मौजूद रहेंगे. कुल मिलाकर बूथों पर 13,939 कर्मी लगेंगे. इसमें 1452 महिला कर्मी भी शामिल हैं. जिले में 21 सखी मतदान केन्द्र बनाए गए हैं. इन मतदान केन्द्रों पर केवल महिलाएं वोट करेंगी. इतना ही नहीं, यहां कर्मी से लेकर अधिकारी तक महिलाएं ही होंगी. इसी तरह दिव्यांग मतदाताओं के लिए सातों विधान सभा में एक-एक मतदान केन्द्र बनाए गए हैं. इसके अलावा जिलेभर में कुल 29 मतदान केन्द्र को मॉडल केन्द्र बनाया गया है. उन्होंने कहा कि जिले में कुल 21,70,709 वोटर हैं. इसमें 11 लाख 46 हजार 700 पुरुष मतदाता हैं. इन मतदाताओं में 16 हजार 842 दिव्यांग मतदाता हैं. जिले के 215 बूथों पर महिला मतदान कर्मियों को लगाया जाएगा. इसके अलावा, 791 बूथों पर महिला-पुरुष दोनों कर्मी तैनात रहेंगे. इस बार विधानसभा चुनाव में एक भवन में 10 से अधिक बूथ एक स्थान पर है. 

नालंदा से राज की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News