NATIONAL NEWS: देश में एक और ना’पाक’ साजिश का खुलासा, विस्फोटक, हथियार सहित 6 आतंकी गिरफ्तार, खुले कई गहरे राज

NATIONAL NEWS: देश में एक और ना’पाक’ साजिश का खुलासा, विस्फोटक, हथियार सहित 6 आतंकी गिरफ्तार, खुले कई गहरे राज

N4N DESK: भारत में त्योहारों के नजदीक आते ही पाकिस्तान साजि रचने से संकोच नहीं करता है. आने वाले त्योहारों के मद्देनजर भी पाक ने भारत को दहलाने की साजिश रची थी. हालांकि देश के जाबांज और वतन के प्रति ईमानदार रहने वाले अधिकारियों की बदौलत इसका पर्दाफाश हो गया है.

दिल्ली पुलिस ने खुफिया एजेंसी की मदद से 6 आतंकियों को गिरफ्तार कर के उनके पास मौजूद भारी मात्रा में विस्फोटक और उच्च क्वालिटी हथियार बरामद किये हैं. इनमें से 2 आतंकियों ने बम बनाने की ट्रेनिंग पकिस्तान से ली थी. दिल्ली पुलिस ने बताया की यह 6 आतंकी आने वाले त्योहारों के दौरान कई विस्फोट करने की योजना बना रहे थे. 

दाऊद इब्राहिम का भाई भी था शामिल

आतंकी दाऊद इब्राहिम के भाई अनीस के इशारे पर नवरात्रि और रामलीला के मौके पर सीरियल ब्लास्ट करना चाहते थे. बता दें की दिल्ली, उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र से इन 6 आतंकियों की गिरफ्तारी हुई है और इसके साथ ही ओडिशा के बालासोर से पुलिस ने DRDO के 4 कर्मचारियों को जासूसी करने के मामले में गिरफ्तार किया है. दिल्ली, उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र से पकड़े गये आतंकियों का नेटवर्क कई राज्यों में फैला हुआ था. 

मल्टी-स्टेट ऑपरेशन के जरिए मिली सफलता

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के DCP प्रमोद कुशवाह ने बताया कि जानकारी मिलने के बाद एक मल्टी स्टेट ऑपरेशन चलाया गया. इस दौरान दिल्ली, उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र से ये आतंकी पकड़े गए. पाकिस्तान में ट्रेनिंग लेने वाले आतंकियों के नाम ओसामा और जीशान कमर हैं. बाकी चारों आतंकियों के नाम मोहम्मद अबु बकर, जान मोहम्मद शेख, मोहम्मद अमीर जावेद और मूलचंद लाला हैं. बता दें की मिली जानकारी के अनुसार दिल्ली पुलिस के स्पेशल कमिश्नर नीरज ठाकुर ने कहा की, ‘हमारे पास 10 टेक्निकल इनपुट थे, सबसे पहले महाराष्ट्र से एक आतंकी को पकड़ा गया. दो आतंकी दिल्ली में अरेस्ट किये गये. इसके बाद उत्तर प्रदेश से 3 लोग अरेस्ट किए गए. बता दें की इनमें से 2 आतंकी अप्रैल में मस्कट गए थे. उन्हें मस्कट से शिप की मदद से पाकिस्तान ले जाया गया. वहां एक फार्म हाउस में रखकर विस्फोटक तैयार करने और AK-47 चलाने की 15 दिन की ट्रेनिंग दी गई. 

काले कारनामों का खुला कच्चा चिट्ठा

पकड़े गए आतंकियों को 2 टीमों में बांटा गया था. एक टीम को दाऊद इब्राहिम का भाई अनीस इब्राहिम संचालित कर रहा था. आतंकियों की इस टीम का मकसद सीमा के पार से हथियार लाना और उन्हें अलग-अलग राज्यों में भेजना था. मिली जानकारी के अनुसार यह टीम आने वाले त्योहारों में भीड़ भाड़ वाले इलाकों को निशाने पर लेकर IED प्लांट करने की तैयारी में थी जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगों की मौत हो सके. 

ओडिशा के बालासोर जिले में डीआरडीओ से 4 जासूस पकड़े गये हैं. डीआरडीओ के एकीकृत परीक्षण रेंज के 4 ठेका कर्मचारियों को मंगलवार को संदिग्ध पाकिस्तानी एजेंटों को कथित रूप से गोपनीय जानकारी देने के आरोप में गिरफ्तार किया गया. पुलिस ने इसकी जानकारी दी. मिली जानकारी के अनुसार शुरुआत में चारों को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ की गई और पूछताछ के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया. बता दें की बालासोर पुलिस ने ख़ुफ़िया जानकारी मिलने के बाद कार्रवाई की गई और यह बताया गया की कुछ लोग जान-बूझकर रक्षा से जुड़ी गोपनीय जानकारी विदेशी एजेंटों, जो कि पाकिस्तानी प्रतीत होते हैं, उनको दे रहे हैं. एजेंटों से विभिन्न आईएसडी फोन नंबरों के माध्यम से संपर्क किया जा रहा है.

Find Us on Facebook

Trending News