सड़क दुर्घटना में पीड़ितों की फर्स्ट ऐड-प्री हॉस्पिटल ट्रीटमेंट के लिए NCC कैडेट्स का विशेष ट्रेनिंग

 सड़क दुर्घटना में पीड़ितों की फर्स्ट ऐड-प्री हॉस्पिटल ट्रीटमेंट के लिए NCC कैडेट्स का विशेष ट्रेनिंग

Patna: बिहार सड़क सुरक्षा परिषद एवं एनएमसीएच के सहयोग से बुधवार को  विश्वेशरैया भवन सभागार में राज्य स्तर पर एनसीसी कैडेट्स को फर्स्ट ऐड, प्री हॉस्पिटल और सीपीआर की ट्रेनिंग दी गई। इस ट्रेंनिंग प्रोग्राम में पटना सहित अन्य जिलों के एनसीसी कैडेट्स ने भाग लिया।

परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने बताया कि राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह-2021 के तहत एनसीसी कैडेट्स को फर्स्ट ऐड, प्री हॉस्पिटल ट्रेनिंग और सीपीआर की ट्रेनिंग दी गई। इसके माध्यम से सड़क दुर्घटना के पीड़ितों की जान बचाना है। सड़क दुर्घटना पीड़ितों की समय पर (गोल्डन आवर में) ईलाज मिल जाये तो उनकी जान बच सकती है।

एम्बुलेंस आने से पूर्व घायलों को फर्स्ट ऐड/ सीपीआर या प्री हॉस्पिटल ट्रीटमेंट हो जाने से काफी हद तक बचने की संभावना बढ़ जाती है। इस कार्य के लिए एनसीसी कैडेट्स फर्स्ट रेस्पांडर के रूप में सबसे कारगर साबित हो सकते हैं। राज्य में एनसीसी के सहयोग से सड़क सुरक्षा जागरूकता कार्यक्रम भी सफलतापूर्वक चलाये जा रहे हैं।

परिवहन सचिव ने बताया कि सड़क सुरक्षा के विभिन्न विषयों पर विशेषज्ञों द्वारा आगे भी समय समय पर इस तरह के प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाए जाएंगे, जिससे सड़क दुर्घटनाओं एवं उनके फलस्वरुप होने वाली मृत्यु में कमी लाने की दिशा में कार्रवाई की जा सके। 

 सड़क सुरक्षा की दृष्टि से कैपिसिटी बिल्डिंग (क्षमता वृद्धि) में यह प्रशिक्षण काफी कारगार साबित होगा। एनएमसीएच के डॉक्टर संतोष कुमार और डॉक्टर राकेश कुमार ने बताया कि किस तरह से सड़क दुर्घटना के पीड़ितों  को अस्पताल पूर्व प्राथमिक उपचार और सीपीआर कर सकते हैं।


Find Us on Facebook

Trending News