बिहार उपचुनाव में एनडीए के उम्मीदवार रिकार्ड मतों से जीतेंगे : रालोजपा

बिहार उपचुनाव में एनडीए के उम्मीदवार रिकार्ड मतों से जीतेंगे : रालोजपा

PATNA : रालोजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता श्रवण कुमार अग्रवाल ने कहा कि बिहार विधानसभा उपचुनाव में एनडीए के उम्मीदवार रिकार्ड मतों से जीतेंगे। चुनाव परिणाम के बाद ट्विटर ब्वॉय और उनके हनुमान का घमंड का चकनाचूर हो जाएगा। रालोजपा के कार्यकर्ता हमें संदेश भेज रहे हैं कि तारापुर में चिराग पासवान राजद के लिए जबकि कुश्वेशवर स्थान में कांग्रेस के लिए वोट मांग रहे हैं। 

श्रवण कुमार अग्रवाल रविवार को 1 व्हीलर रोड स्थित पार्टी कार्यालय में पत्रकारों को संबोधित कर रहे थे। श्रवण कुमार अग्रवाल ने कहा कि चिराग आरोप लगाते हैं कि नीतीश कुमार ने उनके पिता की अनेदखी की, जबकि सच्चाई पूरी दुनिया जानती है। नीतीश कुमार ही वो व्यक्ति हैं जो स्व. रामविलास पासवान के शव को एयरपोर्ट पर जाकर गार्ड ऑफ ऑनर दिए थे। जब स्व. पासवान का शव विधान सभा में आया तो नीतीश कुमार की आंखें नम हो गई थीं। अंतिम संस्कार के समय नीतीश कुमार घंटों मुक्तिधाम में रहें। जबकि चिराग पासवान वो व्यक्ति हैं जो अपने पिता के श्राद्ध के लिए अपना बाल की स्टाइल बदलवाई थी। इसलिए चिराग पासवान को नीतीश कुमार के खिलाफ बोलने का कोई अधिकार नहीं है।

उन्होंने कहा की चिराग पासवान आरक्षण विरोधी बातें कर रहे हैं। उन्हें पासवान जाति के लोगों से घृणा होती है। मेरा सुझाव है कि यदि चिराग को आरक्षण से दिक्कत है तो किसी सामान्य सीट से चुनाव लडें। हमलोग स्व. रामविलास पासवान के पदचिन्हों पर चलनेवाले लोग हैं। हमारे रहते आरक्षण सुरिक्षत है। श्रवण अग्रवाल ने कहा कि स्व. रामविलास पासवान की पुण्यतिथि के दिन जब हमलोग उन्हें याद कर रहे थे तो वहीं राहुल गांधी, लालू यादव और चिराग पासवान उपचुनाव का खाका खिंच रहे थे। अग्रवाल ने कहा कि एनडीए के पांचों दल बीजेपी, जदयू, रालोजपा, वीआईपी और हम(से.) पांडव की तरह हैं और यह उप चुनाव महाभारत की तरह। इसमें दुर्योधन का हारना तय है। हमलोग विकास के नाम पर चुनाव लड़ रहे हैं और विपक्ष जाति के नाम।


श्रवण अग्रवाल ने कहा की राजद का 15 वर्ष का कार्यकाल सभी का याद है, जिसमें हजारों वैश्यों की हत्या हुई थी। राजद संरक्षित गुंडों ने उनकी संपत्ति हथिया ली। हमारी मांग है कि लालू यादव सहित राजद के नेता वैश्य समुदाय से अपने कुकर्मों की माफी मांगे। श्रवण अग्रवाल ने कहा कि बिहार का विपक्ष मुद्दाविहीन है। कांग्रेस कन्हैया कुमार, जिग्नेश और हार्दिक के रूप में तीन साइबेरियन पक्षी को लगाया है। जब बिहार में कोरोना चरम पर था तब ये लोग कहीं नहीं थे। बिहारवासियों के खिलाफ गुजरात में नफरत फैलाने बोलने वाले एम एल ए जिग्नेश मेवानी को बिहार में प्रचार करने का कोई नैतिक अधिकार नहीं हैं। कन्हैया खुद उस पार्टी को ज्वाइन किए है जो बाप की थाती को छाती से लगा कर चलती हैं। प्रेस वार्ता में प्रदेश महासचिव राजेंद्र विश्वकर्मा, लोजपा नेता शौलत राही और डॉ. सुमन मौजूद थे।

पटना से रंजन की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News