गतिशक्ति से देश का नव निर्माण होगा और देश नई आर्थिक शक्ति बनेगा : अरविन्द सिंह

गतिशक्ति से देश का नव निर्माण होगा और देश नई आर्थिक शक्ति बनेगा : अरविन्द सिंह

PATNA : भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता अरविन्द कुमार सिंह ने कहा है कि अब देश  को आत्मनिर्भर बनाएगी गतिशक्ति। देश का नव निर्माण होगा और देश नई आर्थिक शक्ति बनेगा। उन्होंने कहा की देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आत्म शक्ति से गतिशक्ति के इस महाअभियान के केंद्र में भारत के लोग हैं। यह भारत की वर्तमान और आने वाली पीढ़ियों को 21वीं सदी के भारत के निर्माण के लिए नई ऊर्जा देगा।

उन्होंने कहा की भारत को भारी बहुमत के साथ संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के लिए छठे कार्यकाल हेतु फिर से चुना गया। विश्व ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत के प्रति फिर विश्वास जताया है। 2014 के पहले के 5 सालों में सिर्फ 60 पंचायतों को ही ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ा जा सका था। बीते 7 वर्षों में मोदी सरकार ने डेढ़ लाख से अधिक ग्राम पंचायतों को ऑप्टिकल फाइबर से कनेक्ट कर दिया है। मछली पालकों के लिए प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजनामददगार बनी है। रोजगार के साथ आत्मनिर्भरता को बढ़ावा देने वाली इस योजना से जलीय कृषि करने वाले किसानों को बैंक ऋण, बीमा आदि मे मदद मिल रही है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार द्वारा पाम, सोयाबीन और सूरजमुखी के तेल की कच्ची किस्मों पर आयात शुल्क समाप्त करने का निर्णय लिया गया है। इससे खाद्य तेल की कीमतों में कमी आएगी और करोड़ों उपभोक्ताओं को लाभ मिलेगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में देश के किसानों के हित में डीएपी खाद पर सब्सिडी को 1212 रूपए से बढ़ाकर 1662 रूपए प्रति बोरी किया गया। अंतरराष्ट्रीय मूल्यों में अत्यधिक वृद्धि होने के बावजूद भी किसानों को डीएपी की एक बोरी 1,200 रुपये में ही मिलेगी। दूसरी ओर स्वच्छ भारत मिशन (शहरी) को 2025-26 तक प्रधानमंत्री ने बढ़ा दिया है। 

अरविन्द ने कहा है कि पीएम गतिशक्ति मास्टर प्लान सरकारी प्रोसेस और उससे जुड़े अलग-अलग स्टेकहोल्डर्स को तो एक साथ लाता ही है, ये ट्रांसपोर्टेशन के अलग-अलग मोड्स को आपस में जोड़ने में भी मदद करता है। ये होलिस्टिक गवर्नेंस का विस्तार है। पीएम गतिशक्ति नेशनल मास्टर प्लान देश की पॉलिसी निर्माण से जुड़े सभी हितधारकों को एक एनालिटिकल और डिसीजन मेकिंग टूल भी देगा। इससे सरकारों को प्रभावी प्लानिंग में मदद मिलेगी और उद्यमियों को भी प्रोजेक्ट्स जुड़ी जानकारी मिलती रहेगी। पीएम गतिशक्ति प्रोजेक्ट के तहत देश भर में 25,000 एकड़ पर 11 इंडस्ट्रियल कॉरिडोर भारत के मेक इन इंडिया प्रोग्राम को मजबतूी देगा। इससे रोजगार में वृद्धि होगी तथा लोगों के जीवन स्तर में बढोत्तरी होगी। आज जितनी निर्णायक सरकार भारत में है, उतनी पहले कभी नहीं रही। स्पेस सेक्टर और स्पेस टेक को लेकर आज भारत में जो बड़े रिफॉर्म्स हो रहे हैं, वो इसी की एक कड़ी है।

स्पेस रिफ़ॉर्म्स की हमारी अप्रोच 4 पिलर्स पर आधारित है। पहला, प्राइवेट सेक्टर को इनोवेशन की आज़ादी दूसरा, सरकार की इनेबलर के रूप में भूमिका तीसरा, भविष्य के लिए युवाओं को तैयार करना चौथा, स्पेस सेक्टर को सामान्य मानवी की प्रगति के संसाधन के रूप में देखना। पीएम गतिशक्ति प्रोजेक्ट के तहत देश भर में 25,000 एकड़ पर 11 इंडस्ट्रियल कॉरिडोर भारत के मेक इन इंडिया प्रोग्राम को मजबतूी देंगे। इससे रोजगार में वृद्धि होगी तथा लोगों के जीवन स्तर में बढोत्तरी होगी।देश में निजीकरण इसलिए जरूरी है ताकि काम कर रहे लोगों और संस्था के अंदर जिम्मेदारी का भाव आये और वह मनमानी करने की जगह जिम्मेदारी से काम करें।देश में बिजली संकट की आशंका निराधार है। बिजली हर घरों की डिमांड पूरी करने के लिए देश में कोयले का पर्याप्त स्टॉक मौजूद है। क्या 8-10 साल पहले किसी ने सोचा था कि दूर सुदूर गांव में बैठा हस्तशिल्पी अपने प्रोडक्ट दिल्ली के किसी सरकारी दफ्तर में सीधे भेज पायेगा..? आज जेम्सपोर्टल से ये मुमकिन है। हमारे सर्टिफिकेट, डॉक्यूमेंट्स हर समय डिजिटली जेब में होंगे, आज ये डीजीलॉकर से मुमकिन है।

Find Us on Facebook

Trending News