मैट्रिक की परीक्षा देने वाले परीक्षार्थियों के लिए जरुरी खबर, ना करें ये काम

 मैट्रिक की परीक्षा देने वाले परीक्षार्थियों के लिए जरुरी खबर, ना करें ये काम

न्यूज़ 4 नेशन डेस्क : 21 फरवरी से BSEB मैट्रिक वार्षिक परीक्षा होने जा रही है. राज्य में मैट्रिक की परीक्षा शांतिपूर्ण और कदाचारमुक्त कराने के लिए शिक्षा विभाग के साथ ही साथ जिला प्रशासन भी पूरी तैयारी से जुटा है. इस साल राज्य भर के 16 लाख 60 हजार 609 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल होंगे। जिसमें छात्राओं की संख्या 8 लाख 37 हजार 75 और छात्रों की संख्या 8 लाख 23 हजार 534 है. 

इस साल परीक्षा में नकल पर लगाम कसने के लिए वरीय अधिकारियों ने खास रणनीति बनाई है. परीक्षा केंद्रों पर पर परीक्षार्थी को जूता-मोजा पहनकर प्रवेश की इजाजत नहीं होगी, तो वहीं परीक्षार्थियों को प्रवेश पत्र की मूल प्रति और पेन के सिवा कुछ भी ले जाना वर्जित रहेगा। जिसके लिए जिले के तेज-तर्रार वरीय अधिकारियों को मैट्रिक परीक्षा में बतौर दंडाधिकारी प्रतिनियुक्त किया जा रहा है और गश्ती दल के साथ ही उड़नदस्ता टीमें भी बनाई जा रही है.

परीक्षार्थियों को परीक्षा आरंभ होने से कम से कम 10 मिनट पहले केंद्र में प्रवेश करना अनिवार्य होगा। इंटरमीडिएट परीक्षा की तरह ही इस बार मैट्रिक की उत्तर पुस्तिका और ओएमआर शीट पर परीक्षार्थियों का नाम, रौल नंबर, रौल कोड और विषय कोड प्रिंटेड मिलेगा। किसी प्रकार की इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस लेकर परीक्षा केंद्र में प्रवेश वर्जित रहेगा।

परीक्षा भवन में जूता-मोजा पहनकर प्रवेश वर्जित रहेगा। प्रवेश पत्र एवं पेन के अलावा कुछ भी साथ नहीं ले जाएं। वीडियो कैमरे के समक्ष जांच में कैलकुलेटर, मोबाइल फोन एवं अन्य इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स यथा-ब्लूटूथ, इयरफोन मिलने पर परीक्षा से वंचित हो सकते हैं. उत्तर पुस्तिका एवं ओएमआर पर व्हाइटनर, इरेजर, नाखून, ब्लेड का इस्तेमाल नहीं करें। 


Find Us on Facebook

Trending News