आतंकियों को बचाने के लिए नीतीश ने तोड़ा NDA से नाता, भाजपा का सनसनीखेज आरोप – आतंकवादियों को संरक्षण दे रहे बिहार के अधिकारी

आतंकियों को बचाने के लिए नीतीश ने तोड़ा NDA से नाता, भाजपा का सनसनीखेज आरोप – आतंकवादियों को संरक्षण दे रहे बिहार के अधिकारी

पटना. बिहार में सत्ता से बेदखल होने के बाद भाजपा की ओर से जदयू और नीतीश कुमार के खिलाफ लगातार हमला जारी है. भाजपा ने अब सनसनीखेज आरोप लगाते हुए कहा है कि नीतीश कुमार ने आतंकियों को बचाने के लिए एनडीए से नाता तोडा है. प्रदेश भाजपा अध्यक्ष संजय जायसवाल ने शनिवार को कहा कि देश के किसी भी हिस्से में आतंकी घटना हो तो उसके तार बिहार से जुड़ रहे हैं. बिहार के कुछ शीर्ष अधिकारी हैं जो आतंकियों को बचाने में लगे हैं.

उन्होंने किसी अधिकारी का नाम लिए बिना कहा कि पटना में 10 और 11 जुलाई को एनआईए छापेमारी में आतंकियों की बड़ी वारदात का खुलासा हुआ. आतंकियों ने कैसे वर्ष 2047 तक भारत को इस्लामिक राष्ट्र बनाने की साजिश रची उसका खुलासा हुआ. उस समय बिहार पुलिस ने मजबूरी में आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई की. लेकिन इससे बिहार के एक बड़े अधिकारी नाखुश रहे. साथ ही तेजस्वी यादव को समर्थन करने वाले पीएफआई और एसडीपीआई के एक बड़े वोट बैंक ने भी इसका विरोध किया. आतंकियों को बचाने वाले अधिकारी और पीएफआई के लोगों ने मिलकर नीतीश कुमार को एनडीए से अलग होने कहा ताकि बिहार में आतंकियों को बचाया जा सके. 


संजय जायसवाल ने कहा आतंकियों को संरक्षण दे रही बिहार सरकार के राह में भाजपा रोड़ा थी. इसलिए नीतीश कुमार ने एनडीए से नाता तोड़ा. अब तेजस्वी यादव के साथ मिलकर बिहार सरकार राज्य में फलफूल रहे आतंकियों को बचाएगी. उन्होंने कहा कि बिहार में पीएफआई को संरक्षण नीतीश कुमार की ओर से मिल रहा है. 

नीतीश कुमार की महत्वाकांक्षी शराबबंदी के बाद में राज्य में शराब तस्करी होने पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि यह राज्य सरकार के संरक्षण में होता है. सरकार के समर्थन से अधिकरियों और पुलिस की मिलीभगत से शराब तस्करी हो रही है. भाजपा शराब से होने वाली मौतों पर सवाल करती थी तो यही सीएम नीतीश को अच्छा नहीं लगता है. 


Find Us on Facebook

Trending News