पटना में नहीं चलेंगे डीजल वाले ऑटो,नीतीश कैबिनेट का बड़ा फैसला..

पटना में नहीं चलेंगे डीजल वाले ऑटो,नीतीश कैबिनेट का बड़ा फैसला..

PATNA: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अगुवाई में कैबिनेट की बैठक संपन्न हो गई है.  कैबिनेट की बैठक में कुल 12 एजेडों पर मुहर लगी है जिसमें पटना और पटना के आसपास के इलाकों में 2021 से पूरी तरीके से डीजल से चलने वाले ऑटो पर रोक लगाने का फैसला लिया गया है. 

नीतीश कैबिनेट ने बढ़ते हुए प्रदूषण पर नियंत्रण के लिए यह कदम उठाया है.  प्रतिबंध राजधानी पटना के शहरी इलाकों के साथ-साथ आस पास के इलाकों में भी होगा जिसमें फुलवारी, दानपुर जैसे इलाके प्रमुख है. राजधानी क्षेत्र में डीजल से चलने वाले ऑटो रिक्शा अप्रैल 2021 से पूरी तरह बंद कर दिया जायेगा. उसकी जगह CNG और ईरिक्शा को ही चलाने की अनुमति होगी. फैसले के मुताबिक 31 जनवरी 2021 की मध्य रात्रि से पटना नगर निगम और 31 मार्च 2021 कि रात्री से दानापुर, फुलवारी,खगौल, नगर परिषद में डीजल चालित ऑटो पर प्रतिबंध होगा. सरकार ने CNG एवं बैट्री चालित वाहनों के परिचालन को प्रोत्साहन करने हेतु बिहार स्वच्छ इंधन योजना 2019 की स्वीकृति भी प्रदान की है.

नीतीश कैबिनेट ने साथ ही पटना नगर निगम,दानापुर,फुलवारी शरीफ,खगौल,दानापुर नगर परिषद में 15 साल से ज्यादा पूराने सभी कमर्शियल वाहनों के परिचालन को तात्कालिक प्रभाव से प्रतिबंध की स्वीकृति दी गई है. 

बिहार कैबिनेट के अन्य फैसले 

बिहार स्टेट पावर होल्डिंग कंपनी की दोनों कंपनी को अनुमानित वित्तीय हानि की राशि भरपाई के लिए 860 करोड़ की राशि उपलब्ध कराई गई.

विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष त्रिपुरारी प्रसाद सिंह कि जयंति हर साल 6 अक्टूबर को राजकीय समारोह के रूप में मनाने का निर्णय लिया गया.

50 कनीय अभियंता यांत्रिक के नियोजन के साथ कनीय अभियंता असैनिक के 150 पदों पर नियोज की स्वीकृति. 

6ठे केंद्रीय वेतन आयोग के अनुसार और पुनरीक्षित वेतनमान में वेतन पेंशन प्राप्त कर रहे सरकारी कर्मियों पेंशन भोगियों को 1 जुलाई 2019 के प्रभाव से 154 फ़ीसदी के स्थान पर 164 फ़ीसदी महंगाई भत्ता की स्वीकृति दी गई है



Find Us on Facebook

Trending News