जो लोग लंबा-लंबा वायदा कर रहे हैं, उनके राज में शिक्षकों को 15 सौ रुपए मिलता था, आज कितना वेतन मिल रहा.....

जो लोग लंबा-लंबा वायदा कर रहे हैं, उनके राज में शिक्षकों को 15 सौ रुपए मिलता था, आज कितना वेतन मिल रहा.....

पटना.. चुनावी सभा में जाने से पहले भाजपा नेता सुशील मोदी ने एक बार विपक्ष पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा जो चुनाव के समय लंबे-लंबे वायदे कर रहे हैं, जरा उन्हें अपने कार्यकाल के बारे में जानना चाहिए। उन्होंने कहा कि उनके राज में जिन शिक्षकों को 1500 रुपए मिला करता था, आज कितना वेतन मिल रहा... उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कहा कि बिहार की सरकार ने पिछले 15 सालों में सभी वर्गाें के लिए काम किया है, अभी हाल ही में साढ़े तीन लाख से ज्यादा पंचायतों मंें पदस्थ शिक्षकों और लाइब्रेरियन के पद पर हैं उनके वेतन में हमने 20 प्रतिशत की वृद्धि की है, जिसमें 2800 करोड़ रुपए का अधिक बोझ बढ़ेगा। लालू जी के जमाने में शिक्षकों को 1500 रुपए वेतन मिला करता था और अब कितना वेतन बढ़ा है यह बात तो शिक्षकों से ही जाकर पूछिए। 


उन्होंने नीतीश कार्यकाल की सरहाना करते हुए कहा कि कोरोना काल में बिहार पहला राज्य है, जहां डाॅक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफों को एक महीने का अतिरिक्त वेतन दिया गया। आंगनीबाड़ी सेविका-सहायिका, 20 हजार शिक्षा सेवक, पंचायतों में विकासमित्र, किसान सलाहकार को वेतन में वृद्धि किया। जो लोग लंबा-लंबा वायदा करते हैं, तो जब उन्हें काम करने का मौका मिला तो क्यों ने नहीं विकास का काम किए।  


Find Us on Facebook

Trending News