नीतीश कुमार बनेंगे नए जमाने के भागीरथ! आज से राजगीर के हर घर में पहुंचाएंगे गंगा का पानी

नीतीश कुमार बनेंगे नए जमाने के भागीरथ! आज से राजगीर के हर घर में पहुंचाएंगे गंगा का पानी

PATNA: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज से गंगा नदी के साथ एक नया अध्याय जोड़ने जा रहे हैं। आज से गंगा नदी की जल धारा ऐसे जगहों पर उपलब्ध होगी, जिसके बारे में सोचना भी नामुमकिन था।  बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के ड्रीम प्रोजेक्ट हर घर गंगा जल योजना आज से धरातल पर उतरनेवाली है। 

आज मुख्यमंत्री राजगीर शहर के 19 वार्डों के करीब 8031 घरों में पेयजल के लिए हर घर गंगाजल की आपूर्ति का शुभारंभ  करेंगे। इसके साथ ही  बिहार बाढ़ के पानी को पेयजल के रूप में उपयोग करने की देश की पहली योजना का भागीदार बन इतिहास रच देगा। इस दौरान  लोकार्पण समारोह में उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव भी मौजूद रहेंगे. 

बिहार 26 नवंबर को एक इतिहास रचेगा, जब गंगा नदी के बाढ़ के पानी को दक्षिण बिहार के जल संकट वाले शहरों में ले जाकर, उसे शोधित कर पेयजल के लिए हर घर गंगाजल की आपूर्ति करने की मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अनूठी परिकल्पना धरातल पर उतरेगी।  खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपने ड्रीम प्रोजेक्ट गंगा जल आपूर्ति योजना का राजगीर में रविवार को दोपहर बाद तीन बजे लोकार्पण करेंगे। इसके साथ ही वे राजगीर शहर में ‘हर घर गंगाजल’ की आपूर्ति का शुभारंभ भी करेंगे। 

राजगीर के बाद सोमवार को गया और बोधगया में उद्घाटन

इसके साथ ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अगले दिन 28 नवंबर को गया और बोधगया में योजना का लोकार्पण करेंगे, जबकि योजना के दूसरे चरण में जून 2023 तक नवादा में भी हर घर गंगाजल पहुंचाने का लक्ष्य है.। 

 बिहार सरकार के जल संसाधन तथा सूचना एवं जनसंपर्क मंत्री संजय कुमार झा ने कहा कि ‘गंगा जल आपूर्ति योजना’ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का ‘भगीरथ प्रयास’ है. नीतीश कुमार ने दूरगामी अभियान ‘जल-जीवन-हरियाली’ के तहत गंगा नदी के अधिशेष जल को दक्षिण बिहार के जल संकट वाले शहरों ले जाकर पेयजल के रूप में उपयोग करने की अनूठी परिकल्पना की

151 किमी तक बिछाई गई पाइप लाइन

2019 में गया में हुई कैबिनेट की विशेष बैठक में अतिमहत्वाकांक्षी ‘गंगा जल आपूर्ति योजना’ को मंजूरी दी गई. मुख्यमंत्री के मार्गदर्शन में जल संसाधन विभाग ने तत्परता से काम करते हुए इतनी बड़ी योजना को कोरोना काल की चुनौतियों के बावजूद तीन साल से कम समय पूरा करा दिया है. गंगा जल पाइपलाइन के जरिये 151 किलोमीटर सफर तय करके राजगीर, गया और बोधगया के जलाशयों में पहुंच गया है, जहां से यह शोधित होकर शुद्ध पेयजल के रूप में रोज लाखों लोगों की प्यास बुझाएगा.

इतने हजार परिवारों की बुझेगी प्यास

इस योजना के तहत राजगीर शहर के 19 वार्डों के करीब 8031 घरों, गया शहर के 53 वार्डों के करीब 75000 घरों और बोधगया शहर के 19 वार्डों के करीब 6000 घरों में शुद्ध पेयजल के रूप में ‘हर घर गंगाजल’ की आपूर्ति की जायेगी


Find Us on Facebook

Trending News