सांसद के घर के बाहर पकड़ा गया कुख्यात कांट्रेक्ट किलर, एमपी ने कहा – नहीं जानता था वह अपराधी है, मेरे घर आया हर व्यक्ति भगवान की तरह

सांसद के घर के बाहर पकड़ा गया कुख्यात कांट्रेक्ट किलर, एमपी ने कहा – नहीं जानता था वह अपराधी है, मेरे घर आया हर व्यक्ति भगवान की तरह

BHAGALPUR : शहर के कुख्यात अपराधी और कांट्रैक्ट किलर कपिल यादव को पुलिस ने शुक्रवार सुबह नौ बजे जदयू सांसद अजय मंडल के घोघा स्थित आवास के बाहर से गिरफ्तार कर लिया। कपिल यादव फरारी अवस्था में सांसद से मिलने गया था। कपिल यादव पर बीते 11 जून को बरारी थाना क्षेत्र के खंजरपुर में हुई फायरिंग की घटना में शामिल होने का आरोप है। खंजरपुर की घटना के बाद से ही पुलिस कपिल यादव की तलाश में थी।

सांसद से समय लेकर आया था मिलने
 सांसद अजय मंडल के घर से निकलते ही कुख्यात कपिल यादव के गिरफ्तार होने की सूचना शुक्रवार की सुबह तेजी से फैली। सांसद अजय मंडल ने बताया कि मिलने पर कपिल ने भतोड़िया में दो सड़कें बनाने के लिए 10-10 लाख रुपये अपने फंड से देने का आग्रह किया। इस पर सांसद ने कहा कि उनके फंड में पैसे नहीं हैं, इसलिए वह फिलहाल इस मामले में कोई मदद नहीं कर सकते। जिसके बाद वह चाय पीने के बाद घर से बाहर निकल गया, जहां पहले से इंतजार कर रही पुलिस ने गेट के बाहर ही दबोच लिया।

सांसद ने कहा नहीं जानता था वह अपराधी है

मामले ने जब सांसद से पूछा गया तो उन्होंने मिलने की बात कबूल की, लेकिन यह भी कहा कि वह नहीं जानते थे कि वह वांटेड अपराधी है, वह कार्यकर्ता बनकर मिलने के लिए आया था। उन्होंने कहा कि  लेकिन मेरे लिए तो घर आया अपराधी भी भगवान है।

सर्विलांस पर कपिल यादव, पूरी तैयारी के साथ आई थी पुलिस

अपराधी कपिल यादव भागलपुर पुलिस के टेक्निकल सर्विलांस पर था। जैसे ही वह सांसद से मिलने घोघा पहुंचा, पुलिस अलर्ट हो गई। सादे लिबास में सांसद के घर आसपास पुलिस ने मोर्चा संभाल लिया। पहले सांसद आवास से ही कपिल यादव की गिरफ्तारी होनी थी। लेकिन प्रोटोकॉल के कारण कपिल यादव के बाहर आने का इंतजार किया गया।

हत्याडकैती व रंगदारी जैसे 22 केस का आरोपी है कपिल यादव
 कांट्रैक्ट किलर कपिल यादव भागलपुर का बड़ा अपराधी है। कपिल पर कांट्रैक्ट किलिंग, रंगदारी, आर्म्स एक्ट, डकैती के 22 से भी अधिक केस शहर के अलग-अलग थानों में दर्ज हैं। वह नाथनगर प्रखंड के भतोड़िया गांव का रहने वाला है। छोटी खंजरपुर गोलीकांड को छोड़ बाकी सारे केस में वह बेल पर है।

यह बात भी आ रही है सामने
 चर्चा इस बात की हो रही है कि कपिल यादव किसी बड़े सफेदपोश की तरफ से वहां पहुंचा था। कपिल को उस सफेदपोश ने बताया था कि आने वाले समय में दो हजार के नोट बंद हो सकते हैं। उस सफेदपोश के पास सैकड़ों करोड़ रुपये दो हजार वाले नोट हैं। ऐसे में उन पैसों को खपाना जरूरी है। उन पैसे को खपाने के लिए 20 प्रतिशत कमीशन भी उस सफेदपोश ने देने का प्रस्ताव दिया था। ऐसी चर्चा है कि उसी मुद्दे पर चर्चा के लिए वह वहां पहुंचा था। हालांकि सांसद से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने इस मुद्दे पर किसी तरह की चर्चा कपिल यादव से होने की बात से इंकार कर दिया।

यह थी खंजरपुर की घटना, जिसमें कपिल यादव की हुई गिरफ्तारी

11 जून की देर शाम खंजरपुर में हुई फायरिंग में हनी साह और उसके दो भाइयों गोलू और रिक्कू घायल हो गये थे। उस मामले में हनी के चाचा पप्पू साह के बयान पर केस दर्ज किया गया था। पप्पू ने पुलिस को बताया था कि खंजरपुर में जमीन को लेकर घटना को अंजाम दिया गया था। उनका कहना था कि जिस जमीन का उनलोगों ने एग्रीमेंट कराया था, उसी जमीन का अभिषेक सोनी ने भी एग्रीमेंट करा लिया था। इसके बाद से भू-माफिया धमकी दे रहे थे और उस जमीन को खाली करने को कह रहे थे। उन्होंने बताया था कि 11 जून की शाम कपिल यादव, मिथुन, अनिल यादव और गोलू साह ने घर में घुसकर गोलीबारी की, जिसमें उनके भतीजे घायल हो गये। इस केस में महिला सहित कई अन्य को आरोपी बनाया गया था।

Find Us on Facebook

Trending News