राज्य की राजधानी से अब जिलों तक पहुंचा विश्वविद्यालयों के भ्रष्टाचार का मामला, उच्च शिक्षा को बचाने के लिए कल मिथिलांचल बंद का ऐलान

राज्य की राजधानी से अब जिलों तक पहुंचा विश्वविद्यालयों के भ्रष्टाचार का मामला, उच्च शिक्षा को बचाने के लिए कल मिथिलांचल बंद का ऐलान

DARBHANGA : राज्य के विश्वविद्यालयों में व्याप्त भ्रष्टाचार का मुद्दे की चर्चा अब तक सूबे की राजधानी तक ही हो रही थी. लेकिन जिस तरह से उच्च शिक्षा में भ्रष्टाचार की जड़े गहराई तक धंसी हुई है, अब उसका असर बिहार के दूसरे जिलों में भी नजर आने लगा है। यही कारण है कि अब धीरे-धीरे शिक्षा को लेकर चल रहे भ्रष्टाचार को लेकर विरोध नजर आने लगा है। 

ताजा मामला दरभंगा से जुड़ा है, जहां विश्वविद्यालयों में नियुक्त कुलपति-कुलसचिव के भ्रष्टाचार,स्नातक व स्नातकोत्तर के परीक्षा परिणाम घोषित करने,ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय में व्याप्त शैक्षणिक व प्रसाशनिक अराजकता फैलाने वाले भ्रष्ट कुलपति व कुलसचिव की बर्खास्तगी की मांग को लेकर कल सम्पूर्ण मिथिलांचल को बंद करने की घोषणा की गई है। जिसको लेकर आज बंद में छात्र-छात्राओं, प्रोफ़ेसर-कर्मचारियों, शिक्षा प्रेमी आमनागरिक से समर्थन के लिए प्रचार जत्था निकाला। 

जत्थे को राजू कर्ण, शरद कुमार सिंह,कुणाल पांडे,गोलू सिंह,विभूति कुमार झा के नेतृत्व में विश्वविद्यालय परिसर से नरगौन परिसर,आयकर चौक,स्टेशन चौक,दोनार,बेता,समाहरणालय होते हुए पंडासराय तक गया फिर वापस लोहिया चौक,नाका नंबर छः, नाका पांच सहित पूरे शहर मेंनुक्कर सभा कर समर्थन की अपील की गई। 

संदीप कुमार चौधरी व दीपक झा ने कहा कि बन्द को सफल करने के लिए सभी साथी अपने स्तर पर लगे हुए है।कल बिहार संपर्क क्रांति को सुबह में जाम किया जाएगा उसके बाद मार्च करते हुए आयकर चौक को जाम करते हुए पूरे विश्वविद्यालय मुख्यालय, नरगौना को बंद करवाते हुए।सभा की जाएगी।


Find Us on Facebook

Trending News