NSMCH में इंडक्शन व ओरिएंटेशन कार्यक्रम का आयोजन, एकाग्रता और समर्पण सफलता का मूल मंत्र - कृष्णा मुरारी

NSMCH में इंडक्शन व ओरिएंटेशन कार्यक्रम का आयोजन, एकाग्रता और समर्पण सफलता का मूल मंत्र - कृष्णा मुरारी

PATNA : बिहटा के अमहरा स्थित नेताजी सुभाष मेडिकल कॉलेज एन्ड हॉस्पिटल में प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों के लिए इंडक्शन एवं ओरिन्टेशन कार्यक्रम का आयोजित किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता एनएसएमसीएच कॉलेज के एमडी कृष्ण मुरारी सिंह के द्वारा की गई।उन्होंने सभी विद्यार्थियों को एनएसएमसीएच चुनने की बधाई देते हुए एंन्टी रैगिंग, मोटीवेशन, लीडरशिप, कॉलेज पॉलिसी एवं पर्सनालिटी डवलपमेंट पर विस्तार पूर्वक चर्चा किए। मौके पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सह संस्था के फाउंडर टी एन सिंह ने नवप्रवेशित विद्यार्थियों को कहा कि उच्च शिक्षा के क्षेत्र में कदम रखते ही लक्ष्य निर्धारण एवं अध्ययन के प्रति एकाग्रता एवं समर्पण से ही सफलता अर्जित होती है। उन्होनें मेडिकल शिक्षा के लिए महती आवश्यकता बतलाते हुए एनएसएमसीएच द्वारा इस दिशा में किए जा रहे निरंतर प्रयासो की जानकारी देते हुए इसका लाभ उठाने को कहा। 

वहीं एनएसएमसीएच के चेयरमैन एम एम सिंह ने कहा कि खाली गिलास का ज्यादा वजन नहीं होता। लेकिन उसको पूरे दिन पकड़ कर रखने से हाथ स्ट्रेस और दर्द महसूस करेगा। ऐसा ही मन के साथ है।आप मन में चीजों को जितनी देर रखेंगे, मानसिक पीड़ा उतनी ही बढ़ती जाएगी । इसलिए जहां की बात है उसको वहीं तक रखें, मन-मष्तिष्क में कैरी करके ना रखें ।उन्होंने छात्रों से कहा कि एक अच्छा व्यक्ति बनने के लिए हमें खुद और समाज के प्रति ईमानदार होना चाहिए।उन्होंने अपील किया कि आप लोग उच्च शिक्षा पाकर अच्छे संस्कारी डॉक्टर बने ताकि आप पर मनुष्य के साथ परमात्मा भी विश्वास करे।उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों के साथ साथ पूरा फेकल्टी का सहयोग मिलेगा वो दिन दूर नही होगा की देश की नंबर वन के रूप में संस्थान की पहचान होगी।

वहीं प्रचार्य डॉ अरविंद प्रसाद ने बच्चों को बताया कि जिंदगी में सफलता हासिल करने के लिए बच्चों का सर्वपक्षीय विकास होना जरूरी है। इसलिए इस इंडक्शन प्रोग्राम का आयोजन किया गया। जिससे बच्चों को पता चल सके कि उन्होंने किस तरह से कॉलेज में उपलब्ध सुविधाओं का प्रयोग करके अपने व्यक्तित्व का विकास करना है। साथ ही कैसे भटकाव की स्थिति से बचना चाहिए। उन्होंने बच्चो को बताया की आधुनिक तकनीक का आदि नहीं होना है। इसका सद उपयोग करते हुए अपना सर्वागीण विकास करना चाहिए।

कार्यक्रम का शुभारम्भ गणेश वंदना एवं साई वंदना के साथ दीपप्रज्वलित कर किया गया।कार्यक्रम का संचालन डॉ इति प्रज्ञा एवं धन्यवादज्ञापन मीडिया समन्वयक आदित्य शेखर ने किया।इस मौके पर संस्था के फाउंडर शितवांतो देवी,पवन सिंह, एपी सिंह,डॉ शांतनु कु त्रिपाठी, डॉ विभु प्रियदर्शी,डॉ सतीश कुमार,डॉ सुरेंद्र प्रसाद सिंह,डॉ हौदा, डॉ रामजी प्रसाद,डॉ बिंदु सिन्हा,डॉ निर्मला सिन्हा, डॉ मदन दुबे,कुमार आर्यन,उत्कर्ष कुमार आदि प्रमुख थे।




Find Us on Facebook

Trending News