आरा में बीएड परीक्षा में खुलेआम नकल, परीक्षा केंद्र पर पहुंचे डीएम हुए अवाक, 80 परीक्षार्थियों को किया निष्कासित

आरा में बीएड परीक्षा में खुलेआम नकल, परीक्षा केंद्र पर पहुंचे डीएम हुए अवाक, 80 परीक्षार्थियों को किया निष्कासित

आरा. शहर के नामी वीर कुंवर सिंह यूनिवर्सिटी के मुख्य कालेजों में से एक जैन कॉलेज आरा एक बार फिर उस समय कलंकित हो गया, जब जैन कॉलेज में हो रहे बीएड की परिक्षा में निरीक्षण करने भोजपुर जिलाधिकारी राज कुमार ने जैन कालेज परीक्षा केंद्र पहुंचे। परीक्षा में खुल कर बह रही कदाचार की गंगा देख उनके साथ उपस्थित तमाम अधिकारियों के होश उड़ गये। इसके बाद डीएम साहब ने बारी-बारी से छात्र और छात्राओं की जांच कर कुल 80 मोबाइल फोन जब्त किये हैं। साथ ही 80 छात्र और छात्राओं को निष्कासित भी किया। डीएम ने इस परीक्षा को रद्द करने की अनुशंसा की है।

इतना ही नहीं जिलाधिकारी ने सरकार से परीक्षा रद्द करने की अनुशंसा करने की बात कही है। बिदित हो कि 8 जुलाई से आर्य भट्ट विश्व विद्यालय के बीएड पार्ट-2 और पार्ट-3 की परीक्षा हो रही थी। इसका परीक्षा केंद्र जैन कालेज में बनाया गया था। इसमें कुल 280 छात्र और छात्राओं परीक्षा दे रहे थे। इसमें खुल कर कदाचार होने की बात जिलाधिकारी राज कुमार को मिली। इस पर त्वरित कार्रवाई करते हुए जिलाधिकारी ने कदाचार के आरोप 80 छात्र-छात्राओं को निष्कासित करते हुए परीक्षा को रद्द करने की अनुशंसा की है। इस दौरान उन्होंने 80 मोबाइल जब्त किये हैं। 

 इस बाबत जब जिलाधिकारी ने जैन कॉलज के प्राचार्य नरेंद्र कुमार से परीक्षा में हो रहे कदाचार के बारे में पूछा तो प्रिंसिपल का अजीबो गरीब बयान सामने आया। प्रिंसिपल ने सफाई देते हुए कहा कि जितने फोर्स डिप्युट होने चाहिए थे, उतना जिला प्रशासन के द्वारा नहीं दिया गया था। इसकी वजह से  छात्रों की चेकिंग गेट पर नहीं हो पाई और सभी छात्र मोबाइल ले कर अंदर प्रवेश कर गए। वहीं प्रिंसिपल ने कदाचार को लेकर बताए कि हमारे कॉलज के प्रोफेसर स्ट्राइक पर है। इसकी वजह से वीक्षक की भी कमी थी।

वहीं इस कार्रवाई के बाद डीएम राज कुमार ने कहा कि हमको सूचना मिली थी कि जैन कॉलज में हो रही बीएड परीक्षा में कदाचार किया जा रहा है। इसके बाद त्वरित कार्रवाई करते हुए औचक छापेमारी की गई और कई छात्रों को निष्कासित किया गया। डीएम ने कहा कि केंद्र अधीक्षक पर भी जांच चल रही है। इसमें दोषी पाए जाएंगे तो उनपर भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी। साथ ही अनुशंसा कर दिया गया है कि इस परीक्षा को रद्द किया जाय और फिर से साफ-सुथरा परीक्षा आयोजित की जाए।

Find Us on Facebook

Trending News