विधिक जागरूकता सभा का आयोजन, जनजातीय बाहुल्य एवं दुर्गम क्षेत्रों के निवासियों को किया गया जागरूक

विधिक जागरूकता सभा का आयोजन, जनजातीय बाहुल्य एवं दुर्गम क्षेत्रों के निवासियों को किया गया जागरूक

Lakhisarai : अखिल भारतीय विधिक जागरूकता और आउटरीच अभियान के तहत राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नईं दिल्ली के निर्देशन मे जिला विधिक सेवा प्राधिकरण लखीसराय द्वारा जिला भर के सुदूरवर्ती गावों मे ङोर टू ङोर, पंचायत, प्रखंड मुख्यालय पर सघन विधिक जागरूकता सभा किया जा रहा है. इसका उद्धाटन जिला जज धीरेन्द्र प्रसाद जयसवाल और अपर जिला जज सह प्रभारी सचिव ङालसा लखीसराय श्रीराम झा ने व्यवहार न्यायालय परिसर लखीसराय से किया । उक्त संचालित अभियान के तहत आज जिला जज के निर्देशन और अपर जिला जज सह सचिव ङालसा लखीसराय श्रीराम झाके नेतृत्व मे सदर अंचल क्षेत्र के अमहरा पंचायत मुख्यालय में एक विशाल विधिक जागरूकता शिविर सह सभा का आयोजन किया गया.

सभा को अपर जिला जज सह सचिव ङालसा लखीसराय श्रीराम झा , अधिवक्ता रजनीश कुमार, कुमारी बबीता, शीवेष कुमार और जिला विधिज्ञ संघ के सचिव सुबोध कुमार ने संबोधित किया । सभा को संबोधित करते हुए अपर जिला जज श्रीराम झा ने कहा कि इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य जन जन तक विशेष रूप से सुदूर व्रती ग्रामीण क्षेत्रों में जनजातीय बाहुल्य एवं दुर्गम क्षेत्रों के निवासियों को विधिक रूप से जागरूक कर विधिक सेवा संस्थाओं की कार्य प्रणाली से अवगत कराना तथा निःशुल्क विधिक सेवा उपलब्ध करावाना  है ।

इस अभियान के तहत लम्बित मामलों चाहे वह फौजदारी या दीवानी हो का शीघ्र सुलझाने का प्रयास किये जाएंगे ।अधिवक्ता रजनीश कुमार ने संबोधित करते हुए कहाकि भारत और राज्य सरकारों द्वारा कुल लगभग 29 प्रकार के जन कल्याणात्मक योजनाऐ पंचायत एवं जिला प्रशासन के माध्यम से संचालित है. इसके तहत पेट में पल रहे बच्चे से अंतिम संस्कार तक के लिए योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है ताकी सभी जनो को विकास का समान अवसर प्राप्त हो सके लेकिन विधिक जागरूकता के अभाव में आम लोग लाभ नहीं ले पा रहे हैं. इस तरह के कार्यकर्म कर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण लखीसराय लोगो को जागरूक करने का काम कर रही है. उन्होंने कहा कि अगर सही लाभुको को लाभ से वंचित कर अपात्र को गलत तरीके से लाभ पहुंचाने का कार्य किया जाता है तो वह एक तरह से अपराध है जिसके बिरूध कानूनी कारवाई संभव है. बशर्ते लोग डालसा कार्यालय से सम्पर्क कर प्रमाण के साथ शिकायत कर विधिक सहायता ले।

अधिवक्ता कुमारी बबीता ने महिलाओं, बच्चों, विकलांगो, शोषित, पिङतो,आदिवासियों, जनजातियों के अधिकारों का संरक्षण, घरेलू हिंसा, यौन अपराध से बालक बालिकाओं का संरक्षण, राइट टू एजुकेशन आदी विषयों पर व्यापक चर्चा मंच से लोगों को जागरूक किया, अधिवक्ता शीवेष कुमार ने नालसा द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं के बारे में बताते हुए उसका लाभ प्राप्त करने का तरीका बताया । सभा का संचालन स्थानीय समाजसेवी नयनतारा पासवान, मुखिया प्रतिनिधि सुनील कुमार ने किया सभा में सभी स्थानीय जनप्रतिनिधि, और सैकड़ों ग्रामीण उपस्थित थे।


Find Us on Facebook

Trending News