पंचायत चुनाव: पटना में चली बदलाव की आंधी और हार गए प्रखंड के आठों मुखिया

पंचायत चुनाव: पटना में चली बदलाव की आंधी और हार गए प्रखंड के आठों मुखिया

पटना. बिहार में चल रहे पंचायत चुनाव में बदलाव की जबरदस्त आंधी चल रही है. इसमें कई पंचायतों की पूरी सूरत बदल जा रही है. पंचायत चुनाव के 10वें चरण की मतगणना शुक्रवार को हुई जिसमें पटना जिले के चार प्रखंडों में भी मतगणना हुई. 

पटना के इन प्रखंडों में भी बदलाव की आंधी चली और आधे से ज्यादा मुखिया चुनाव हार गए. खासकर घोसवरी प्रखंड की आठों पंचायतों के सभी मुखिया बदल गए. यहाँ 8 दिसम्बर को मतदान हुआ था और 10 दिसम्बर को मतगणना हुई. प्रखंड के कुम्हड़ा पंचायत से मनोज राम, कुर्मीचक पंचायत से अंजली पटेल, गोसाईं गांव पंचायत से पिंकी कुमारी, घोसवरी पंचायत से आरती कुमारी, त्रिमुहान पंचायत से कौशल कुमार, तारतर पंचायत से संजीव पासवान, पैजना पंचायत से प्रेमलता गोप और सम्यागढ़ पंचायत कुसुम देवी विजयी रही. 

कुछ इसी तरह का हाल पटना जिले के मोकामा में रहा. यहाँ भी 15 में से 12 पंचायतों में मुखिया पद पर नए चेहरे आए. शिवनार पंचायत में विजयी मुखिया रंजना कुमारी मात्र 4 वोटों के अंतर से रूबी देवी पर जीत हासिल करने में सफल रही. प्रत्याशियों के आग्रह पर यहाँ दो बार पुनर्मतगणना हुई. 

चुनाव आयोग के आंकडें बताते हैं कि इस बार राज्य में ज्यादातर पंचायतों में बड़े स्तर पर नए चेहरे निर्वाचित होकर आए हैं. इसकी एक बड़ी वजह पुराने निर्वाचितों का जन सरोकार से मतलब नहीं होना माना जा रहा है. 


Find Us on Facebook

Trending News