बिहार में पंचायती राज चुनाव खत्म : जनता ने नये चेहरे पर जताया भरोसा, ये रहा खास

बिहार में पंचायती राज चुनाव खत्म : जनता ने नये चेहरे पर जताया भरोसा, ये रहा खास

Desk. बिहार में पंचायती राज का चुनाव खत्म हो गया है. इसमें बड़े स्तर पर नये चेहरे चुने गये हैं. राज्य में दो लाख 47 हजार 656 पदों के लिए 11 चरणों में मतदान कराया गया है. वहीं चुनाव में महिलाओं की भागिदारी भी खासा है. जानकारी के अनुसार एक पद के लिए करीब चार प्रत्याशी चुनवी मैदान में उतरे थे. वहीं कई प्रत्य़ाशी निर्विरोध भी चुने गये. प्रदेश के करीब 32801 प्रत्याशी निर्विरोध चुने गये. वहीं 1734 पदों पर किसी कारणवश चुनाव नहीं हो सका. इन पदों पर 6 माह बाद चुनाव होने है.

उच्च डिग्रीधारी भी चुनाव लड़े

इस बार पहली बार पंचायत का चुनाव इवीएम से हुए. इसके लिए राज्य निर्वाचन आयोग को मैराथन तैयारियों से गुजरना पड़ा. इसके लिए 30 राज्य से ईवीएम मशीन मांगानी पड़ी. वहीं ईवीएम की संख्य कम पड़ने पर निर्वाचन आयोग ने वार्ड सदस्य, मुखिया, पंचायत समिति सदस्य और जिला परिषद सदसयों का चुनाव ईवीएम से कराने का फैसला लिया और अन्य पदों के लिए बैलेट बॉक्स से चुनाव कराया गया.

कंप्यूटर इंजीनियर भी जीते चुनाव

पंचायत चुनाव में आम लोगों के साथ उच्च डिग्रीधारी लोग भी चुनाव लड़े. साहेबगंज प्रखंड की सरैया पंचायत से सरोज पासवान मुखिया का चुनाव जीते हैं, जो पेश से कंप्यूटर इंजीनियर है. उनकी स्कूली शिक्षा गांव में हुआ. वहीं मुशहरी की नरौली पंचायत से सोनी कुमारी बड़े अंतर से चुनाव जीती है. वे पीएचडी कर रही है. वे इतिहास से एएम किया है.

6.38 करोड़ लोगों ने किया मतदान

बिहार में 11 चरणों में हुए पंचायती राज चुनाव में 6 करोड़ 38 लाख 94 हजार 437 मतदाताओं ने मताधिकार का प्रयोग किया. इसमें 3 करोड़ तीन लाख 11 हजार 779 महिला मतदाताओं ने मतदान किया है, तीन करोड़ 35 लाख 82 हजार 958 पुरुष मतदाताओं ने मताधिकार का प्रयोग किया.


Find Us on Facebook

Trending News