MLC चुनाव में अपने प्रत्याशी को जीत दिलाने पहुंचे पशुपति पारस, कहा - नीतीश कुमार के कारण फिर कायम हुई पंचायती राज व्यवस्था

MLC चुनाव में अपने प्रत्याशी को जीत दिलाने पहुंचे पशुपति पारस, कहा - नीतीश कुमार के कारण फिर कायम हुई पंचायती राज व्यवस्था

HAJIPUR : बिहार में विधान परिषद चुनाव में अब कुछ दिन ही शेष बचे हैं। ऐसे में सभी पार्टियों द्वारा चुनाव प्रचार में जुट गए हैं। इनमें वैशाली सीट से एनडीए की तरफ से पशुपति पारस की लोजपा को टिकट दिया गया है। रविवार को केंद्रीय मंत्री अपने प्रत्याशी भूषण यादव के समर्थन में चुनाव प्रचार करने के लिए पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने मौजूदा केंद्र और राज्य सरकार के काम का जमकर गुणगान किया। साथ ही 2005 से पहले की लालू राबड़ी सरकार को लेकर विपक्ष पर जमकर निशाना साधा। इस दौरान उनके साथ सभा में  JDU के दो बड़े मंत्री उपेंद्र कुशवाहा और उमेश कुशवाहा भी थे मौजूद रहे। 

 पशुपति पारस ने कहा कि 2005 से पहले की जो सरकार थी, वह घोटाले की सरकार थी। आज केंद्र और बिहार में एक गठबंधन की सरकार होने के कारण आज शहरों के साथ गांव में भी 20 से 22 घंटे बिजली मिल रही है।आज के सरकार और नीतीश कुमार के राज में रात में भी लोग चैन से सोते हैं।

नीतीश ने स्थापित की पंचायती राज व्यवस्था

पशुपति पारस ने कहा कि 2005 से पहले पंचायतों की हालत कैसी थी यह किसी से छिपी नहीं है। डेढ़ दशक तक पंचायत चुनाव नहीं हुए। लालू सरकार ने पूरी पंचायती राज  व्यवस्था को ठप कर दी। 2005 में एक बार फिर से नीतीश सरकार के आने के बाद पंचायती राज व्यवस्था कायम की गई। पंचायतों को उनके अधिकार दिए गए। आज पंचायती राज व्यवस्था बेहतर तरीके से काम कर रही है तो यही नीतीश सरकार के कारण है।

बिहार विधान परिषद चुनाव में रसिया और यूक्रेन युद्ध की एंट्री

यूक्रेन से भारतीयों को वापस लाने का क्रेडिट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देते हुए पशुपति पारस ने कहा कि यह हमारे प्रधानमंत्री के कारण ही संभव हो सका कि यूक्रेन में युद्ध के बीच से सभी भारतीय बच्चों को सुरक्षित लाने में कामयाबी मिली। विश्व में भारतीय तिरंगे का महत्व इतना बढ़ गया है कि यूद्ध में भी कई लोग भारतीय तिरंगे का सहारा लेकर यूक्रेन से बाहर निकले।



Find Us on Facebook

Trending News