कुत्ते के काटने के बाद इलाज के लिए अस्पताल पहुंचा मरीज, स्वास्थ्यकर्मियों ने "एंटी रैबीज की जगह लगा दिया कोरोना का टीका"

कुत्ते के काटने के बाद इलाज के लिए अस्पताल पहुंचा मरीज, स्वास्थ्यकर्मियों ने "एंटी रैबीज की जगह लगा दिया कोरोना का टीका"

PALAMU : सरकारी अस्पतालों में काम करनेवाले स्वास्थ्यकर्मियों द्वारा मरीजों के इलाज के लिए किस प्रकार की लापरवाही बरती जाती है। यह पलामू जिले के पाटन प्रखंड मुख्यालय स्वास्थ्य केंद्र में जाकर समझा जा सकता है। जहां बीते दिनों एक मरीज इलाज के लिए पहुंचा था। मरीज को कुत्ते में काट लिया था। लेकिन यहां स्वास्थ्यकर्मियों ने लापरवाही दिखाते हुए उन्हें एंटी रैबीज की जगह कोरोना का टीका लगा दिया। 

मामले में बताया गया कि यहां दो दिन पहले नौडिहा गांव के रहनेवाले 50 साल के राजू को कुत्ते ने काट लिया था, जिसके बाद वह अस्पताल में एंटी रैबीज का इंजेक्शन लगवाने पहुंचा था। लेकिन कोरोना का टीका लगाने की आदत स्वास्थ्यकर्मियों में इस कदर बस गई है कि उन्होंने राजू को भी टीका लेनेवाला मरीज समझ लिया और उसे एंटी रैबीज की जगह कोरोना का टीका लगा दिया। 

अस्पताल में हुई इस लापरवाही का मामला सामने आने के बाद जिला स्वास्थ्य विभाग में बवाल मच गया। दोनों वैक्सीन लेने के बाद भी एंटी रैबीज की जगह फिर से कोरोना का टीका लगाने को लेकर जिले के सिविल सर्जन डा. अनिल कुमार ने गंभीरता से लिया है। उन्होंने कहा है कि मामला लापरवाही का है. उन्होंने कहा, ‘इसकी जांच के लिए डॉ. एम पी सिंह के नेतृत्व में तीन सदस्यीय दल बनाया गया है. यह दल जांच के लिए पाटन जाएगा. इस दल में डॉ. अनुप कुमार के साथ ही जिला कार्यक्रम प्रबंधक (DPM) दीपक कुमार भी शामिल हैं।



Find Us on Facebook

Trending News