पटना में बाढ़ रिटर्न : अच्छा हुआ नीतीश जी ने अपनी आंखों का ऑपरेशन करा लिया, शायद अब उन्हें दिखेगी राजधानी की सच्चाई

पटना में बाढ़ रिटर्न : अच्छा हुआ नीतीश जी ने अपनी आंखों का ऑपरेशन करा लिया, शायद अब उन्हें दिखेगी राजधानी की सच्चाई

PATNA : 26 सितंबर 2019 का दिन पटना के लोगों के जेहन में एक बार ताजा हो गई, जब बीती रात मूसलाधार बारिश ने पूरे पटना को पानी मे डूबा दिया। महज कुछ घंटों की बारिश में पटना का शायद ही कोई मोहल्ला ऐसा बचा हो, जहां घुटने तक पानी का जमाव न हो। हालात बिल्कुल वैसे ही नजर आ रहे थे, जैसा कि दो साल पहले था। इस दौरान राज्य सरकार, नगर निगम ने चाहे कितने दावे किए हों, लेकिन स्थिति जस की तस नजर आई। कुछ घंटों की बारिश ने बता दिया कि राजधानी पटना में सुधार के नाम पर करोड़ों रुपए कहां गए।

बीती रात को जिस तरह बिजली की गर्जना हो रही थी, कई लोगों की नींद उड़ गई। लोगों को दो साल पहले की घटना याद आने लगी, जब रात भर की बारिश के बाद सुबह आंखे खुलती है पैर पानी में डूबे हुए थे। फिर चाहे एशिया की सबसे बड़ी कॉलोनी कहे जाने वाले कंकड़बाग का इलाका हो या पटेलनगर, गर्दनीबाग। रात की बारिश के बाद लगभग सभी जगह उसी तरह पानी का जमाव देखने को मिला। लोग इस व्यवस्था को लेकर सरकार और निगम को कोसते नजर आए। लोगों का कहना था कि दो साल बाद भी सरकार ने कोई सबक नहीं लिया।

डूब गया पूरा विधानमंडल

राजधानी पटना में बारिश के कारण हुए जलजमाव को लेकर नगर निगम और राज्य सरकार ने कितना काम किया है, वह बिहार विधान मंडल में देखा जा सकता है। जहां प्रवेशद्वार से लेकर पूरे परिसर में सिर्फ पानी ही पानी दिख रहा था। यह स्थिति उस जगह की है, जहां पूरे प्रदेश के विधायक लोगों के जीवन को बेहतर बनाने के लिए योजना बनाते हैं। 

अच्छा हुआ सीएम ने नहीं देखा यह नजारा

दो दिन पहले बिहार के सीएम नीतीश कुमार नई दिल्ली एम्स में अपनी आंखों का ऑपरेशन कराया है। जिसके बाद अब पटना के लोगों का कहना है  कि अच्छा हुआ क्योंकि अब शायद उन्हें बिहार की राजधानी की खराब व्यवस्था ज्यादा बेहतर तरीके से नजर आएगी। वर्ना वह यह कहते कि उन्हें कोई कमी नजर ही नहीं आ रही है। 


Find Us on Facebook

Trending News