पटना में बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर एक्शन में जिला प्रशासन, 9 कोषांगों का किया गया पुनर्गठन

पटना में बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर एक्शन में जिला प्रशासन, 9 कोषांगों का किया गया पुनर्गठन

PATNA : देश के कई राज्यों में एक बार फिर कोरोना का कहर शुरू हो गया है. बिहार में भी इसके मद्देनजर एहतियाती कदम उठाये जा रहे हैं. इस कड़ी में पटना के  जिलाधिकारी डॉ चंद्रशेखर सिंह ने कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव हेतु  9 कोषांग का पुनर्गठन कर अधिकारियों एवं कर्मियों की प्रतिनियुक्ति की है. इसके साथ ही उन्होंने कोषांग के अधिकारियों के साथ बैठक कर निर्धारित दायित्व का जवाबदेही से ससमय निष्पादन करने का निर्देश दिया. पुनर्गठित 9 कोषांगों में कोविड-19 टेस्टिंग कोषांग, नियंत्रण कक्ष सह परामर्श केंद्र कोषांग, कांटेक्ट ट्रेसिंग कोषांग, माइक्रो कंटेनमेंट जोन प्रबंधन कोषांग, उपचार प्रबंधन कोषांग, मीडिया कोषांग, आगंतुक सर्वेक्षण कोषांग, कोविड प्रोटोकॉल एनफोर्समेंट कोषांग और कोविड-19 टीकाकरण कोषांग शामिल है. 

बताया गया है की पटना जिलांतर्गत कोरोना जांच के कुल 66 केंद्र चालू हैं. साथ ही शहरी क्षेत्र में 5 मोबाइल टीम भी कार्यरत है. समीक्षा में पाया गया कि पटना शहरी क्षेत्र के 23 यूपीएचसी में से 22 सेंटर पर  टेस्टिंग की व्यवस्था चालू है. शेष सिपाराडीह यूपीएचसी को भी 24 घंटे के भीतर शुरू करने का निर्देश दिया गया है. वहीँ 22 शहरी पीएचसी भी है. जिसमें दीघा मुसहरी, शास्त्री नगर पीडब्ल्यूडी मैदान, कौशल नगर, रुकनपुरा, दीदारगंज मालसलामी, झकहरी महादेव, कमला नेहरू नगर, पूर्वी लोहानीपुर ,संदलपुर कुम्हरार, दाउदपुर बगीचा, बड़ी पहाड़ी पैजबा, मारूफगंज, कस्बा पटना सिटी, गुलजारबाग, जय प्रभा कंकड़बाग, गर्दनीबाग 6सी, आलमगंज मछुआ टोली, चांदपुर बेला, पश्चिमी लोहानीपुर,, पोस्टल पार्क, मुख्य सचिवालय और कंकड़बाग शामिल है. इसके अतिरिक्त  लोकनायक जयप्रकाश नारायण हॉस्पिटल राजवंशीनगर , न्यू गार्डिनर रोड अस्पताल , गर्दनीबाग अस्पताल , पाटलिपुत्र अशोक है. कोई भी व्यक्ति 10:00 बजे पूर्वाह्न से 3:00 बजे अपराह् तक सेंटर में जाकर कोरोना जांच करा सकता है. साथ ही आईजीआईएमएस, पीएमसीएच, एनएमसीएच टेस्टिंग  सेंटर के रूप में कार्यरत है. होली पर्व के अवसर पर राज्य के बाहर से आने वाले आगंतुकों के लिए कोरोना जांच की व्यवस्था पटना एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन दानापुर , राजेंद्र नगर एवं पटना जंक्शन पर किया गया है. साथ ही मीठापुर एवं बांकीपुर बस स्टैंड पर भी टेस्टिंग की व्यवस्था  है. ग्रामीण क्षेत्र के लिए अनुमंडलीय/ रेफरल/पीएचसी में टेस्टिंग/वैक्सीनेशन की सुविधा है. पटना ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को टेस्टिंग/वैक्सीनेशन के लिए अनुमंडलीय/ रेफरल/ पीएचसी में व्यवस्था की गई है. कोई भी व्यक्ति निकटतम केन्द्र पर जाकर कोरोना जांच करा सकते हैं. 

23 मार्च से दुकानों एवं वाहनों में मास्क/सैनिटाइजर के प्रयोग की होगी चेकिंग, दुकानों को सील किया जाएगा. जिलाधिकारी ने दुकानों में मास्क/ सैनिटाइजर का प्रयोग सुनिश्चित कराने हेतु 8 टीमों का गठन किया है. दुकानों की जांच के दौरान अगर दुकानदार /उपभोक्ता बिना मास्क/सेनीटाइजर के प्रयोग के  पाए  गये तो संबंधित दुकान को सील किया जा सकता है. साथ ही सार्वजनिक स्थलों पर भी मास्क के प्रयोग की सघन जांच की जाएगी तथा दोषी से ₹50 के जुर्माना की वसूली की जाएगी.  इसके अतिरिक्त जिला परिवहन पदाधिकारी एवं मोटरयान निरीक्षक को वाहनों पर मास्क चेकिंग करने एवं जुर्माना वसूली का निर्देश दिया गया है. 

बैठक में कोरोना को लेकर जागरूकता एवं सावधानी पर बल दिया गया. वहीँ शहरी क्षेत्र के सभी अंचल में जागरूकता अभियान चलाया जायेगा. 6 जागरूकता रथ द्वारा आम लोगों को जागरूक किया जाएगा. जिलाधिकारी हरी झंडी दिखाकर रथ को रवाना करेंगे. जिलाधिकारी ने जागरूकता रथ के माध्यम से आम लोगों को मास्क /सैनिटाइजर का प्रयोग करने के बारे में जागरुक एवं प्रेरित करने का निर्देश दिया. उन्होंने कहा कि पटना शहरी क्षेत्र के सभी अंचल में जागरूकता रथ रूट चार्ट के अनुसार प्रतिदिन भ्रमण करेंगे. उन्होंने जिला स्वास्थ्य समिति को 24 मार्च से प्रचार प्रसार शुरू करने का निर्देश दिया. कंट्रोल रूम को 24×7 कार्यरत रखने एवं पालीवार कर्मियों की तैनाती कर जवाबदेही तय करने का निर्देश दिया गया है. कोरोना संक्रमण के खतरा को देखते हुए  जिलाधिकारी ने कंट्रोल रूम को नाम /पता के आधार पर लगातार कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग करने तथा स्थिति प्राप्त कर आवश्यकतानुसार परामर्श भी दिलाने का निर्देश दिया है. सिविल सर्जन नियंत्रण कक्ष 0612-2249964 और जिला नियंत्रण कक्ष 0612-2219090 से संपर्क किया जा सकता है. बैठक में उप विकास आयुक्त रिची पांडेय ,अपर समाहर्ता राजस्व राजीव श्रीवास्तव, अपर समाहर्ता आपूर्ति निर्मल कुमार, अपर समाहर्ता सामान्य विनायक मिश्रा, सिविल सर्जन डॉ विभा कुमारी सहित कई जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे. 

पटना से विवेकानंद की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News