पटना LIC एजेंट के घर डकैती कांड, पुलिस को नालंदा के गिरोह पर शक

पटना  LIC एजेंट के घर डकैती कांड, पुलिस को नालंदा के गिरोह पर शक

PATNA : राजधानी पटना में पिछले दिनों हुई एक के बाद एक लूट और डकैती की घटना ने पुलिस की नींद उड़ाकर रख दी है। अभी रुपसपुर और आशियाना-दीघा रोड स्थित पंचवटी रत्नालय लूट मामले में पुलिस माथा-पच्ची ही कर रही थी कि रामकृष्णा नगर में अपराधियों ने दिन-दहाड़े एक एलआईसी एजेंट के घर डाका डालकर उसकी परेशानी और बढ़ा दी है। 

एलआईसी एजेंट हरेन्द्र तिवारी के घर हुए लूट मामले की जांच में जुटी पुलिस का शक इस घटना को अंजाम देने में नालंदा के गिरोह पर जा रही है। बताया जा रहा है कि पुलिस नालंदा के इस गिरोह पर शक की निगाह से देख रही है जिसने फरवरी और मार्च में कंकड़बाग, रामकृष्णानगर और जक्कनपुर में वारदात को अंजाम दिया था। 

तीनों मामलों में पटना पुलिस ने नालंदा के दो बदमाश अजीत और रंजीत पासवान को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। हालांकि तीन अपराधी अभी भी मामलें में फरार चल रहे है। पुलिस उक्त तीनों अपराधियों   की तलाश में नालंदा, बेउर, कंकड़बाग और फुलवारी में छापेमारी की है। देर शाम पुलिस ने चार लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की है।

शुक्रवार को हुए एलआइसी एजेंट हरेंद्र तिवारी के घर दिनदहाड़े डकैती की वारदात की जानकारी जब गृह स्वामी के द्वारा जब पुलिस को दी गई तब पुलिस ने उन्हें थाने आकर लिखित शिकायत करने की बात कहा गया। पुलिस घटनास्थल पर तबतक नही गई जबतक की पीड़ित थाने पर पहुंच घटना की पूरी जानकारी नहीं दी। पीड़ित परिवार का आरोप है कि इतनी देर में अपराधी भागने में सफल रहा।

पीड़ित के इस आरोप के बाद काण्ड में शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए स्पेशल टीम गठित की गई है। वहीं इस पूरे ऑपरेशन से रामकृष्णा नगर थाने को अलग रखा गया है। है। रामकृष्ण नगर थाना को सिर्फ संदिग्ध पर नजर रखने की हिदायत दी गई है। इस मामले में पुलिस चार लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

पुलिस आसपास के लॉज में भी छापेमारी कर रही है और कौन कहां से आया इसका ब्यौरा भी देख रही है। पुलिस का फोकस बोरिंग रोड, रामकृष्णानगर जगनपुरा और कंकड़बाग के इलाके पर है। 

कुंदन की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News