पटना पर कोरोना का अटैक, फुल हो गए राजधानी के आइसोलेशन सेंटर, अब बिहटा भेजने की कवायद शुरू

पटना : बिहार में कोरोना का संक्रमण अब खतरनाक रुप लेता जा रहा है. वहीं पटना अब पूरी तरह कोरोना के रडार पर है. कोरोना अब पटना के 22 मोहल्लों में घुस चुका है. गुरुवार को पटना के 22 अलग-अलग मोहल्ले में कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं. पटना में गुरुवार को कुल 108 कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं.

वहीं मसौढ़ी निवासी एक मिठाई दुकानदार की एनएमसीएच में कोरोना से मौत हो गई है. पिछले चार दिनों दूरी बार पटना में संक्रमितों का आंकड़ा 100 के पार पहुंचा. इस तरह जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या 938 पहुंच गई है,वहीं मरने वालों की संख्या 10 हो गई है.

फुल हो गया पटना का आइसोलेश सेंटर
पटना में लगातार कोरोना का संक्रमण फैलने और संक्रमितों की संख्या बढ़ने के बाद उन्हें आइसोलेशन में रखने के लिए जगह की भी महसूस होने लगी है.सिविल सर्जन की टीम रात के 11 बजे तक संक्रमितों के रखने की व्यवस्था में जुटी है. सिविल सर्जन का कहना है कि अचानक बड़ी संख्या में संक्रमितों के मिलने से थोड़ी परेशानी बढ़ गई है. पटना सिटी, होटल पाटलिपुत्रा अशोका और पाटलीपुत्र खेल परिसर का इसोलेशन वार्ड भर गया है. अब बिहटा के ईएसआई अस्पताल में संक्रमितों को भेजने की व्यवस्था की जाएगी.

पीएमसीएच से पटना के 12 संक्रमित मिले हैं. जिनमें त्रिपोलिया, कदमकुआं और बिहारी साव लेन के पांच लोग शामिल हैं. बाकि के दो पीएमसीएच के नर्सिंग स्टॉफ हैं. इसके अलावा कंकड़बाग से आठ, मलाही पकड़ी से एक, भूतनाथ रोड से एक, गोला रोड से 4, पटेलनगर से दो, दानापुर से दो, बोरिंग रोड से एक,सिपारा से दो, राजीवनगर से दो, फुलवारीशरीफ से एक,रुकनपुर से 1, बुद्दा कॉलोनी से एक, मनेर से एक, बिहटा से दो, करबिगहिया से एक, एसके परी से एक कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं.

Find Us on Facebook

Trending News