पटना नें मानव शृंखला के लिए महागठबंधन ने प्रशासन से अनुमति लेना भी नहीं समझा जरुरी, राजद ने कहा - जेपी ने भी नहीं ली थी परमिशन

पटना नें मानव शृंखला के लिए महागठबंधन ने प्रशासन से अनुमति लेना भी नहीं समझा जरुरी, राजद ने कहा - जेपी ने भी नहीं ली थी परमिशन

पटना। एक तरफ अगले कुछ मिनटों में महागठबंधन पूरे राज्य में विशाल मानव शृंखला बनाने की तैयारी में हैं. वहीं दूसरी तरफ राजधानी पटना में ह्यूमन चेन को लेकर जिलाधिकारी ने बड़ा झटका दिया है। उन्होंने कहा है कि राजधानी में मानव शृंखला को लेकर कोई अनुमति नहीं मांगी गई है. ऐसे में अब जिला प्रशासन ने साफ कर दिया है कि अगर पटना में कोई गड़बड़ी होती है, तो इसकी जिम्मेदारी इन राजनीतिक दलों की होगी।

डीएम चंद्रशेखर ने बीते शुकवार रात तक इस संबंध में हमारे पास किसी प्रकार का आवेदन नहीं मिला है। इसलिए अनुमति देने का कोई सवाल ही नहीं है। आवेदन मिलने के बाद ही इस पर कुछ फैसला लिया जा सकता है। डीएम की बातों से साफ जाहिर है कि पटना में तेजस्वी यादव के लिए कार्यक्रम को सफल बनाना कितना चुनौती वाला होगा।

राजद ने कहा जेपी ने ली थी परमिशन

मामले में जब राजद सांसद मनोज झा ने मानव शृंखला की तुलना जेपी आंदोलन से करते हुए कहा कि उस समय क्या आंदोलन के लिए अनुमति ली गई थी। उन्होंने कहा कि ऐसा मुद्दा है जिस पर किसी प्रकार की परमिशन की जरुरत नहीं होती है। उन्होंने कहा कि सरकार को चेतने की जरुरत है। बिहार के किसानों को मजदूर बना गया है। बिहार सरकार को राज्य की जनता ने खारिज कर दिया है



Find Us on Facebook

Trending News