पटना के सहयोग हॉस्पिटल पर शिकंजा कसने की तैयारी, डीएम ने किया जांच टीम का गठन

पटना के सहयोग हॉस्पिटल पर शिकंजा कसने की तैयारी, डीएम ने किया जांच टीम का गठन

PATNA : पटना के सहयोग हॉस्पिटल पर शिकंजा कसने की तैयारी है। पटना के डीएम कुमार रवि ने सहयोग हॉस्पिटल में प्रसूता की हुई मौत मामले की जांच के लिए टीम का गठन कर दिया है। जांच रिपोर्ट के बाद सहयोग हॉस्पिटल पर शिकंजा कसा जाएगा।

पटना डीएम के आदेश के बाद पोस्टमार्टम का वीडियोग्राफी  भी कराया गया है।साथ ही सहयोग अस्पताल के  निदेशक और डॉक्टर पर पटना के पाटलिपुत्र थाना में एफआईआर दर्ज किया गया है।बता दें कि महेशनगर की रहने वाली स्निग्धा की इलाज के दौरान संदेहास्पद तरीके से मौत हो गई थी जिसके बाद गुस्साए परिजनों ने सहयोग अस्पताल में हंगामा किया था। मौत के बाद अस्पताल के प्रबंधक एवम चिकित्सक अस्पताल छोड़ फरार हो गया था।

क्या है मामला

पटना के महेशनगर निवासी प्रशांत कुमार सिन्हा की पत्‍‌नी स्निग्धा को सोमवार को सहयोग हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। अस्पताल में स्निग्धा का इलाज डॉ. स्वर्णलता कर रही थीं। गुरुवार को स्निग्धा ने एक पुत्री को जन्म दिया। परिजनों का कहना है कि लड़की का जन्म ऑपरेशन से हुआ, ऑपरेशन के दौरान ही महिला की कोई नस कट गई और रक्तश्राव शुरू हो गया। काफी रक्तश्राव होने पर महिला के शरीर में खून की कमी होने लगी तो डॉक्टरों ने अलग से खून की मांग की।परिजनों ने अस्पताल प्रशासन को पांच यूनिट ब्लड मुहैया कराया, इसके बावजूद भी महिला की जान नहीं बचाई जा सकी। 

गुरुवार की दोपहर उन्हें बताया गया कि स्निग्धा की किडनी फेल हो गई और डायलिसिस के दौरान हॉर्ट फेल होने से उसकी मौत हो गई। इसके लिए दो बार स्निग्धा का ऑपरेशन किया गया था। ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि पहले ऑपरेशन के दौरान ही नस कटने से इंटर्नल ब्लिडिंग होने से मौत हुई।

Find Us on Facebook

Trending News