सीतामढ़ी में दोहरे हत्याकांड मामले में आरोपी की गिरफ्तारी नहीं होने पर लोगों ने पुलिस थाने का किया घेराव, जमकर काटा बवाल

सीतामढ़ी में दोहरे हत्याकांड मामले में आरोपी की गिरफ्तारी नहीं होने पर लोगों ने पुलिस थाने का किया घेराव, जमकर काटा बवाल

सीतामढ़ी. रीगा थाना की लापरवाही को लेकर गुरुवार को सैकड़ों की संख्या में आये ग्रामीणों ने थाना का घेराव कर दिया। मामला थाना क्षेत्र के पिपरा गांव में हुए डबल मर्डर केस से जुड़ा बताया जा रहा है। घटना के मुख्य आरोपी को पुलिस अबतक गिरफ्तार नहीं की है। इसको लेकर आक्रोशित ग्रामीणों ने थाना का घेराव किया। इस दौरान पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की गई।

लोगों ने एसपी को बुलाने की मांग की तो थानाध्यक्ष ने कहा कोई ऑफिसर नहीं आएगा। इसके बाद उसके परिजन आत्महत्या की बात कह रहे हैं। उनका कहना है कि अगर पुलिस गिरफ्तार नहीं करती तो आत्मदाह कर लेंगे। घंटो मशकत के बाद जल्द गिरफ्तारी के आश्वासन पर लोग शांत हुए।

रीगा थाना क्षेत्र पिपरा गांव में बीते 22 सितंबर को मामूली विवाद को लेकर पिता-पुत्र की चाकू गोदकर हत्या कर दी गई थी। हत्या गांव के ही नागेंद्र दास के पुत्र उदय कुमार दास ने किया था। इस मामले में उदय के पिता समेत पांच की गिरफ्तारी हो चुकी है। हालांकि मुख्य आरोपी  घटना के करीब एक महीने बाद तक फरार चल रहा हैं। लोगों ने बताया कि महावीरी झंडे के दौरान आरोपी और मृतक में हुई मारपीट में अगर पुलिस गंभीर रही होती तो दोनों की हत्या नहीं होती। झंडा के दौरान आरोपी उदय शराब के नशे में धुत्त होकर पिपरा चौक पर पूजा के दौरान हल्ला हंगामा कर रहा था। सूचना मिलने पर उसके घर के लोगों ने ही पकड़कर उसको लाया।

रात बीतने के बाद सुबह में जब वह निकला तो वह पड़ोसी नारायणदास के बकरे को मारने लगा था। रोकने पर दोनों पक्षों में मारपीट हुई थी। इसमें उदय जख्मी हो गया था। स्थानीय अस्पताल में उसका इलाज हुआ। इसके बाद उसने थाने पर इस बात की लिखित शिकायत भी की थी, लेकिन पुलिस ने उसकी शिकायती आवेदन को अनसुना कर दिया था। उसी खुन्नस में उसने अपने साथ मारपीट करने के आरोपी पिता-पुत्र के साथ बर्बरता दिखाई। दोनों को चाकू गोदकर मौत के घाट उतार दिया था।

Find Us on Facebook

Trending News