फेक थी किडनैपिंग, अपनी मर्जी से गई थी शिक्षिका, वीडियो जारी कर खुद दी जानकारी

फेक थी किडनैपिंग, अपनी मर्जी से गई थी शिक्षिका, वीडियो जारी कर खुद दी जानकारी

पटना। बीते 20 दिसंबर को दानापुर से पास से हथियार के बल पर एक शिक्षिका के अपहरण की घटना सामने आई थी, जिसको लेकर राजधानी के कानून व्यवस्था पर सवाल उठ रहे थे। अब इस मामले में एक नया मोड़ आ गया है। बताया जा रहा है कि अपहरण की बात बिल्कुल झूठी थी और महिला शिक्षिका अपनी मर्जी से गई थी। 

इस बात की पुष्टि खुद अपहृत शिक्षिका ने एक वीडियो जारी कर दी है। इस वीडियो में शिक्षिका ने कह रही हैं कि 'मैं रुखसार हासमी फुलवारीशरीफ के नोहसा बगीचा की रहने वाली हूं. मुझे अफरोज आलम घर से भगाकर या पकड़कर नहीं लाया. मैं खुद अपनी मर्जी से इनके साथ आई हूं. हम दोनों ने शादी भी कर ली है.' इसके साथ ही शिक्षिका ने वीडियो संदेश में आगे कहा है, 'अफरोज आलम या इनके परिवार के खिलाफ मेरे परिवार द्वारा कोई कंप्लेन की जाए तो उसे सही न समझा जाए. हम दोनों एक दूसरे के साथ खुश हैं.' 


परिवार के लोग सकते में

शिक्षिका के द्वारा जारी वीडियो के बाद उसके परिवार के लोग हैरत में हैं कि उनकी बेटी ऐसा कैसे कर सकती है। सवाल यह है कि जब प्रेम विवाह करना था तो अपहरण की साजिश क्यों रची गई। ऐसे बहुत से सवाल हैं जो अब शिक्षिका के परिवार के पास हैं, जिनके जवाब शिक्षिका के वापस आने के बाद ही मिल सकता है। 

 बता दें कि 20 दिसंबर  को फुलवारी शरीफ की रहनेवाली रुखसार को हथियार के साथ 20 की संख्या में आए लोगों ने अपहरण कर लिया था, जिसके बाद इलाके में तनाव की स्थिति थी, वहीं पुलिस भी उसकी तलाश में लगी हुई थी

बिहार की राजधानी पटना से हुए शिक्षिका के अपरहरण मामले में नया ट्विस्ट आया है. अब तक जिस शिक्षिका को अपहृत मान कर पटना पुलिस सड़कों पर खाक छान रही थी, अब उसी महिला ने एक वीडियो जारी करके अपनी सलामती की जानकारी दी है. इतना ही नहीं, शिक्षिका ने यह भी बताया कि उसे भगाकर या अगवा करके नहीं लाया गया. उसने कहा कि वो खुद अपने मर्जी से गई है.

Find Us on Facebook

Trending News