प्लेटफॉर्म टिकट की कीमत बढ़ाकर क्यों किया गया 50 रुपये, रेलवे की तरफ से आई ये सफाई

प्लेटफॉर्म टिकट की कीमत बढ़ाकर क्यों किया गया 50 रुपये, रेलवे की तरफ से आई ये सफाई

DESK: पुणे जंक्शन द्वारा प्लेटफार्म टिकट का मूल्य बढ़ाकर 50 रुपये कर दिया गया है. सोशल मीडिया पर इस बढ़ोतरी की खूब चर्चा हो रही है. सोशल मीडिया पर लोग इस बात के लिए भारतीय रेलवे और सरकार की आलोचना कर रहे हैं. इसके बाद अब भारतीय रेलवे ने इस पर सफाई दी है कि प्लेटफॉर्म टिकट की कीमत को क्यों बढ़ाया गया है.

भारतीय रेलवे की ओर से इस पर सफाई दी गई कि पुणे जंक्शन द्वारा प्लेटफार्म टिकट का मूल्य 50 रुपये रखने का उद्देश्य अनावश्यक रूप से स्टेशन पर आने वालों को रोकना है. रेलवे ने कहा कि इस तरह से सोशल डिसटेनसिंग का पालन किया जा सकेगा. रेलवे ने बताया कि प्लेटफार्म टिकट की दरों को कोरोना के शुरुआती दिनों से ही नियंत्रित किया जा रहा है.

बता दें कि रेलवे ने साल 2015 में विशिष्ट परिस्थितियों में प्लेटफार्मों पर भीड़ को नियंत्रित करने के लिए प्लेटफॉर्म टिकट की दर बढ़ाने के लिए मंडल रेल प्रबंधकों यानि डीआरएम को पावर दी थी. इसी पावर का इस्तेमाल करते हुए पुणे जंक्शन के डीआरएम ने अपने जंक्शन के प्लेटफॉर्म टिकट की कीमत बढ़ाकर 50 रुपये कर दी है.

आईआरसीटीसी की वेबसाइट से आपको प्लेटफॉर्म का टिकट नहीं मिलता. प्लेटफॉर्म टिकट से आप उस प्लेटफॉर्म पर दो घंटे तक रह सकते हैं. यानि कि आपको अपने परिजनों को छोड़ने अथवा लेने की अनुमति दो घंटे के लिए मिलती है


Find Us on Facebook

Trending News