पीएम मोदी ने कह दिया,कोरोना के खिलाफ लड़ाई लम्बी है,थकना नहीं है,जीतना ही है, इसका मतलब क्या है समझिये.......

पीएम मोदी ने कह दिया,कोरोना के खिलाफ लड़ाई लम्बी है,थकना नहीं है,जीतना ही है, इसका मतलब क्या है समझिये.......

Desk: भारतीय जनता पार्टी के 40 वें स्थापना दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि "कोरोना वायरस के खिलाफ जारी लड़ाई लंबी है, इसलिए थकना नहीं है, हारना नहीं है ,और सिर्फ जीतना ही है" अब सवाल है कि जिस कोरोना संकट से देश गुजर रहा है और पीएम के निर्देश पर पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन लागू है तो क्या प्रधानमंत्री मोदी ने संकेत दे दिया है कि लॉकडाउन अभी नहीं टूटेगा?या फिर कुछ और?

लड़ाई लम्बी है ,थकना नहीं है,इसका मतलब क्या है?
40 वें स्थापना दिवस समारोह पर नरेंद्र मोदी के द्वारा संबोधन के दौरान कही गई यह बात कि कोरोना वायरस के खिलाफ जारी लड़ाई लंबी है।इसके कई निहितार्थ निकाले जा रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने एक प्रकार से देश के तमाम बुद्धिजीवियों और आम नागरिकों के बीच एक सवाल छोड़ दिया है ,जिसके बाद से लगातार अपने -अपने हिसाब से कयासों का दौर जारी है, कुछ लोग सवाल यह भी पूछ रहे हैं कि क्या प्रधानमंत्री एक लंबे लॉक डाउन के लिए देश को तैयार करना चाहते हैं या फिर या 15 अप्रैल को यह खत्म हो जाएगा.....

ख्याल रखियेगा पीएम ने देशवासियों से कुछ हफ्ते मांगे थे...
कोरोना वायरस के संकट  के बीच देश में चल रहे 21 दिनों का लॉक डाउन ,फिर ताली और थाली बजाकर कोरोना वायरस से लड़ रहे योद्धाओं का समर्थन और एक बार फिर 5 अप्रैल को रात्री 9 बजे 9 मिनट तक दीप प्रज्वलन का संकल्प।इसके बाद  भारतीय जनता पार्टी के 40 वें स्थापना दिवस समारोह पर कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए यह कहना कि कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई लंबी है... लेकिन अब जरा इससे पहले प्रधानमंत्री के कथनों पर गौर कीजिए।याद कीजिए जब प्रधानमंत्री ने जनता कर्फ्यू का ऐलान किया था। उन्होंने यह कहा था की वह देशवासियों से उनके कुछ हफ्ते चाहते हैं। परिणाम हुआ 2 दिनों बाद पूरे देश में 21 दिनों के लॉक डाउन का ऐलान कर दिया गया। 

दुनिया के  इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है जब 130 करोड़ लोगों की आबादी वाले देश में लोगों को 21 दिनों के लिए घरों में रहने के लिए कह दिया गया। एक तरफ 14 मार्च को लॉक डाउन समाप्त हो रहा है तो दूसरी तरफ कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है । कोरोना की वजह से मरने वाले लोगों के आंकड़े भी धीरे-धीरे बढ़ रहे हैं।21 दिनों का लॉक डाउन देश को प्रतिदिन आर्थिक तौर पर तोड़ रहा है। लेकिन प्रधानमंत्री ने कहा था कि अगर 21 दिन घरों में रहिएगा तो 21 साल पीछे जाने से बच जाइएगा यानी जो ठहरेगा वही जीतेगा तो आज के संबोधन के बाद कयासों का दौर जारी है ।लोग जानना चाह रहे हैं कि प्रधानमंत्री के द्वारा यह कहा जाना कि अभी लड़ाई लंबी है इसका मतलब क्या लॉक डाउन अभी नहीं टूटेगा?

Find Us on Facebook

Trending News