सीओ के खिलाफ कार्रवाई करने से बच रही पुलिस आई बैकफुट पर, CM नीतीश से शिकायत के बाद अब अंचलाधिकारी की गिरफ्तारी के आदेश

सीओ के खिलाफ कार्रवाई करने से बच रही पुलिस आई बैकफुट पर, CM नीतीश से शिकायत के बाद अब अंचलाधिकारी की गिरफ्तारी के आदेश

SITAMADHI : फ्लैट खरीदने के नाम पर एक युवक से 22 लाख रुपए हड़प कर जानेवाले सीतामढ़ी जिले के सीतामढ़ी जिले में मेजरगंज के तत्कालीन सीओ चंदन कुमार की गिरफ्तारी के आदेश जारी किए गए है। उक्त आदेश सदर डीएसपी ने जारी किये हैं। सीओ चंदन कुमार पर मेजरगंज थाना में बीते जुलाई माह में प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी, लेकिन अधिकारी पर पुलिस हाथ लगाने से डर रही थी।

मामले में बताया गया कि मेजरगंज में अंचलाधिकारी के रूप में ड्यूटी के दौरान उन्होंने कुंवारी मदन गांव के रहने वाले सुबोध सिंह के बेटे प्रभात कुमार से 21 लाख 96 हजार रुपया लिया था। प्रभात कुमार ने जब सीओ चंदन कुमार से पैसा लौटाने को कहा तो वह आनाकानी करने लगे। कई बार प्रभात ने चंदन से पैसा मांगा लेकिन उन्होंने पैसे वापस लौटाने में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई।

परेशान होकर थाने में दर्ज कराया था मामला

सीओ चंदन कुमार द्वारा पैसे नहीं लौटाने के बाद बीते 10 जुलाई को मेजरगंज थाने में प्राथमिकी दर्ज करवाई थी। लेकिन पुलिस ने इस शिकायत को ठंडे बस्ते में डाल दिया और अधिकारी पर कोई कार्रवाई नहीं की गई।

जनता दरबार में सीएम के पास पहुंचा मामला

पुलिस के काम से निराश होकर प्रभात ने सीएम नीतीश के जनता दरबार में अर्जी लगाई, जहां उसने सीओ चंदन कुमार और मेजरगंज थाना के करतूतों को लेकर मुख्यमंत्री के समक्ष अपनी नाराजगी जाहिर की। जनता दरबार में मामला पहुंचने के बाद पुलिस को अपना फर्ज याद आया। सीएम के आदेश के बाद इस मामले में जांच तेज हुई और अब सीतामढ़ी के सदर डीएसपी रामाकांत उपाध्याय ने आरोपी सीओ चंदन कुमार के खिलाफ गिरफ्तारी का आदेश जारी कर दिया है। केस का आईओ नैमुद्दीन अंसारी को बनाया गया था।

अभी बेगूसराय में पदस्थ हैं आरोपी सीओ

चंदन कुमार फिलहाल बेगूसराय जिले में तैनात हैं। पुलिस की जांच में पता चला है कि प्रभात कुमार ने चंदन को 21 लाख 96000 रुपया दिया था। अनुसंधान के क्रम में डीएसपी को उपलब्ध करवाया साथ ही व्हाट्सएप चैट के माध्यम से जो लेनदेन की बात हुई है, उसको भी सुपुर्द किया है।


Find Us on Facebook

Trending News