जमुई में मोनू हत्याकांड का पुलिस ने किया खुलासा, कौशल विकास केंद्र का संचालक निकला मास्टरमाइंड

जमुई में मोनू हत्याकांड का पुलिस ने किया खुलासा, कौशल विकास केंद्र का संचालक निकला मास्टरमाइंड

JAMUI : कोडरमा के रहनेवाले मोनू कुमार की गढ़ी थाना अंतर्गत बरमसिया जंगल में अपराधियों द्वारा गोली मारकर हत्या कर दी गई। घटना 25 सितम्बर की बताई जा रही है। इस संदर्व में जमुई पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। बता दें इस हत्याकांड में नामजद अभियुक्तों दशरथ साव, इंद्रदेव साव, सूर्यदेव साव और विष्णुदेव साव की गिरफ्तारी 10 घंटे में ही जमुई पुलिस ने कर ली थी। 


तकनीकी अनुसंधान और मृतक के द्वारा घटना से पूर्व वायरल वीडियो के आधार पर पहचान की गई तो पाया गया की वायरल वीडियो राजकिशोर पासवान जिला सीतामढ़ी का है जो नामजद के घर में पार्टनरशिप पर कौशल विकास केंद्र का संचालनकर्ता है। मृतक की बहन की शादी दशरथ साव के घर में है जहाँ पूर्व से प्रॉपर्टी को लेकर विवाद चल रहा था। 

इसी आक्रोश में आकर नामजद अभियुक्तों ने राजकिशोर पासवान को मोनू की हत्या की सुपारी दें दी थी। राजकिशोर पासवान ने अपने साला थॉमस मरांडी के सहयोग से साजिश रचकर बबलू राय को डेढ़ लाख में  मोनू की  हत्या करने की सुपारी दे दी थी। इन अपराधियो ने मोनू को झांसा में लेकर उसकी स्कॉर्पियो भाड़े पर लेकर चरकापत्थर लाया। जहाँ से थॉमस मरांडी ने अपने तीन सहयोगियों की मदद से मरियम पहाड़ी के पास गाड़ी में सवार हो गए और बरमसिया जंगल जो की गढ़ी थाना क्षेत्र में पड़ता है। 

धोखे से मोनू के सर में दो गोली मारकर उसकी हत्या कर दी। तत्पश्चात गुप्त सूचना के आधार पर बरमसिया जंगल से लूटपाट की योजना बनाते हुए थॉमस मरांडी, बबलू राय, अमजद अंसारी और शोबराती मियां को गिरफ्तार कर लिया। वहीँ तीन अवैध हथियार, 6 कारतूस और घटना क्रम में उपयोग किए गए मोबाइल तथा हत्या के लिए गए 33 हज़ार रुपए बरामद किए गए। सभी अपराधियो को जेल भेज दिया गया है।

जमुई से सुमित की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News