एक माह पहले किया चीनी के बोरियों से भरे ट्रक को हाईजैक, इस तरह पुलिस पहुंची लुटेरों तक

एक माह पहले किया चीनी के बोरियों से भरे ट्रक को हाईजैक, इस तरह पुलिस पहुंची लुटेरों तक

औरंगाबाद। 2 सौ बोरी चीनी लेकर एक ट्रक झारखंड से गया के लिए रवाना होती है। लेकिन उस ट्रक पर कुछ लुटेरों की नजर लग जाती है। वह ट्रक का पीछा करते हैं और रास्ते में चालक को पकड़ लेते हैं, उसके साथ मारपीट करते हैं। फिर ट्रक को हाईजैक कर फरार हो जाते हैं। लगभग एक महीने तक पुलिस उनकी तलाश करती है, इस बीच ट्रक के बारे में जानकारी मिलती है कि वह दूसरे जिले में मौजूद है और चीनी की बोरियों को दूसरे जिले के मंडी में बेच दिया गया है। बिहार के चार जिलों और दो राज्यों से जुड़ी यह कहानी औरंगाबाद की है, जहां पुलिस ने बिहार के इस अंतरराज्यीय गिरोह का खुलासा किया है।

मामले में बताया गया कि झारखंड से चीनी लेकर चली ट्रक औरंगाबाद के मदनपुर लाइन होटल के पास से बीते 2 जनवरी को हाइजैक कर लिया गया। जिसकी प्राथमिकी मदनपुर थाने में दर्ज की गई। जिसके बाद से ही ट्रक की खोजबीन की जा रही थी। इसी दौरान पुलिस को एक लाइन होटल से ट्रक के जाने की जानकारी मिली। इस आधार पर पुलिस टीम ट्रक की तलाश करते हुए नालंदा पहुंच गई, जहां ट्रक को तो बरामद कर लिया गया, लेकिन चीनी की बोरियां नहीं मिली। 

नवादा पहुंची पुलिस

पुलिस कप्तान सुधीर कुमार पोरिका में बताया ट्रक मिलने के बाद चीनी के बारे में जानकारी हासिल करने की कोशिश शुरू हुई. जिसके बारे में पता चला कि उसे नवादा जिले के अमरिका बिगहा की मंडी में बेच दिया गया है। जहां छानबीन के दौरान चीनी के खरीदारों के बारे में जानकारी मिली। चीनी मिल के मालिक से बोरियों की पहचान कराने के बाद पांच खरीदारों को गिरफ्तार किया गया। जिनके पास से 69 बोरी चीनी बरामद की गई है।

मुख्य सरगना अब भी फरार

पुलिस कप्तान ने बताया कि यह एक अंतरराज्यीय गिरोह है, जिसमें अभी मुख्य सरगना की गिरफ्तारी नहीं हुई है।  हालांकि उन सबकी पहचान कर ली गई है और उनकी गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी की जा रही है। जल्द ही गैंग के सभी सदस्यों को सलाखों के पीछे भेजा जाएगा।

औरंगाबाद में सक्रिय हैं हाइवे के लुटेरे

बता दें कि कुछ दिन पहले ही एक ऐसे ही गिरोह का भंडाफोड़ हुआ था, जिसमें छत्तीसगढ़ से 20 लाख के चिरौंंजी लेकर आ रहे ट्रक के अपहरण करने की घटना सामने आई थी। अपहरण की इस घटना में भी औरंगाबाद के सक्रिय गिरोह की बात सामने आई थी, जो हाइवे पर धान लेकर जानेवाले ट्रकों को निशाना बनाते हैं। 



Find Us on Facebook

Trending News