शराब की आड़ में जबरदस्ती घर में घुसकर पुलिस ने की छापेमारी, वीडियो वायरल, महिला से मारपीट का भी आरोप

शराब की आड़ में जबरदस्ती घर में घुसकर पुलिस ने की छापेमारी, वीडियो वायरल, महिला से मारपीट का भी आरोप

मुजफ्फरपुर. बिहार में पूर्ण शराबबंदी को प्रभावी तरीके से लागू करने के लिए पुलिस प्रशासन तमाम कोशिशें कर रही हैं। पुलिस को सूचना मिलते ही बेहिचक किसी के भी घर में घुसकर पुलिस अवैध शराब ढूंढने लग रही है। ताजा मामला बिहार के मुजफ्फरपुर जिले का है। यहां मिठनपुरा थाना क्षेत्र में एक घर में देर रात शराब ढूंढने पहुंची पुलिस और शराब के बहाने सारा घर का सामान इधर से उधर कर दिया। इस पूरे घटनाक्रम का वीडियो घर में मौजूद महिला ने बना लिया। जब महिला ने विरोध किया तो पुलिस पदाधिकारी ने महिला के ऊपर लाठी भी चलाई, जो वीडियो में साफ देखा जा सकता है । यह पूरा मामला एक महिला की निजता के हनन का प्रयास भी हो सकता है।

पूरे मामले में पूछे जाने पर घर के मालिक अविनाश कुमार ने बताया कि सरकारी कार्यालय पश्चिमी अनुमंडल में कार्यरत एक कर्मचारी जो अवैध शराब के मामले में नामजद है, उसका नाम अमरेंद्र कुमार सिंह है। उसके खिलाफ अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। इसको लेकर संबंधित सभी वरीय अधिकारी और मद्य निषेध के अपर सचिव, मुजफ्फरपुर के डीएम, एसएससी, एसडीपीओ को 13 मार्च को पत्र भेजा था। इसके बाद 15 मार्च की रात हमारे घर पर शराब मामले को लेकर मिठनपुरा थाना पुलिस ने छापेमारी की।


शराब पकड़ने आई पुलिस बैरंग लौटी और छापेमारी का विरोध घर में मौजूद मेरी पत्नी ने नहीं किया। पूरी तलाशी लेने दी, लेकिन इसका वीडियो उसने बनाया क्योंकि घर पर वह अकेली थी और पुलिस की टीम रेड करने पहुंची थी। इस दौरान पुलिसकर्मियों ने तसल्ली भर अपनी जांच पड़ताल की कुछ भी बरामद नहीं हुआ। मुझे यह विश्वास है कि सरकारी कार्यालय के कर्मी के खिलाफ कंप्लेंट करने का यह नतीजा है जो शराब मामले में खुद नामजद है और उनका परिवार शामिल है।

उन्होंने कहा कि अगर वह सरकारी नौकर है तो उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं होगी। महज दो दिन में ही यह मुझे दिखाई दे दिया। हम अपना छोटा सा बिजनेस करते हैं और सामाजिक सरोकार से नाता रखते हैं। इसलिए यह कंप्लेंट की थी, लेकिन शराबबंदी वाले बिहार में ऊंची पहुंच वालों को कहीं कोई दिक्कत नहीं है, इससे यह साफ है।

Find Us on Facebook

Trending News