यूपी में सियासी उलटफेर : अखिलेश यादव का साथ छोड़ेंगे ओम प्रकाश राजभर! भाजपा के साथ जुड़ने का कयास

यूपी में सियासी उलटफेर : अखिलेश यादव का साथ छोड़ेंगे ओम प्रकाश राजभर! भाजपा के साथ जुड़ने का कयास

Desk. उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी और इसके गठबंधन की करारी हार के बाद इस गठबंधन में फूट दिखाई दे रहा है। दरअसल हार के बाद ओम प्रकाश राजभर ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मिले हैं। इससे अब कयास लगाया जा रहा है कि वे भाजपा गठबंधन के साथ एक बाद फिर जुड़ सकते हैं। इससे पहले भी वह एनडीए गठबंधन के साथ थे, लेकिन विधानसभा चुनाव से पहले वह भाजपा का साथ छोड़कर अखिलेश के साथ चुनाव लड़ने का फैसला लिया। हलांकि राजभर की अमित शाह से मिलने की अधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। 

जानकारी के मुताबिक ओमप्रकाश राजभर ने अमित शाह, धर्मेंद्र प्रधान और सुनील बंसल के साथ 18 मार्च को मुलाकात की। ओमप्रकाश राजभर की इन नेताओं के साथ मुलाकात करीब घंटेभर चली। हालांकि, आधिकारिक तौर पर इसकी पुष्टि अभी नहीं हुई है। न तो बीजेपी और ना ही ओमप्रकाश राजभर ने ही इस संबंध में कोई बयान दिया है।

गौरतलब है कि 2017 के विधानसभा चुनाव में ओमप्रकाश राजभर की पार्टी बीजेपी के साथ गठबंधन कर चुनाव मैदान में उतरी थी। चुनावी जीत के बाद यूपी में जब बीजेपी की सरकार बनी, ओमप्रकाश राजभर को योगी आदित्यनाथ की कैबिनेट में मंत्री भी बनाया गया, लेकिन कुछ समय बाद राजभर ने बीजेपी और सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था।


हाल ही में संपन्न यूपी चुनाव में ओमप्रकाश राजभर की पार्टी अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी (सपा) के नेतृत्व वाले विपक्षी गठबंधन में शामिल होकर चुनाव मैदान में उतरी चुनाव प्रचार के दौरान भी राजभर ने बीजेपी को लेकर आक्रामक तेवर दिखाए और सूबे से योगी आदित्यनाथ की सरकार को उखाड़ फेंकने का दंभ भरते रहे।

बीजेपी के नेतृत्व वाले गठबंधन को यूपी चुनाव में प्रचंड जीत मिली। बीजेपी के नेतृत्व वाले गठबंधन ने 403 में से 273 सीटें जीतकर सत्ता में वापसी कर ली। ओमप्रकाश राजभर जिस विपक्षी गठबंधन में शामिल थे, उसे 125 सीटों से संतोष करना पड़ा। हालांकि, ओमप्रकाश राजभर जिस जहूराबाद विधानसभा सीट से लगातार दूसरी बार निर्वाचित हुए हैं, वह गाजीपुर जिले में पड़ता है और गाजीपुर में बीजेपी गठबंधन एक भी सीट जीतने में सफल नहीं हो सका।

Find Us on Facebook

Trending News