पूर्व मंत्री अब्दुल बारी सिद्दीकी पर FIR... जानिए मामला...

पूर्व मंत्री अब्दुल बारी सिद्दीकी पर FIR... जानिए  मामला...

पटना /दरभंगा : बिहार सरकार के पूर्व मंत्री और महागठबंधन प्रत्याशी अब्दुल बारी सिद्दीकी और उनके 500 कार्यकर्ता पर एफ आई आर दर्ज किया गया है। अब्दुल बारी सिद्दीकी बिहार के दरभंगा जिले के केवटी विधानसभा क्षेत्र से महागठबंधन के प्रत्याशी है। क्या मामला बिना अनुमति लिए 500 कार्यकर्ता के साथ बैठक करने तथा कोविड-19 के नियमों के उल्लंघन कर राजद कार्यालय का उद्घाटन करने के आरोप में दर्ज किया गया है। सिद्दीकी के साथ-साथ राजद के दरभंगा जिलाध्यक्ष राम नरेश यादव पर भी कोविड-19 के नियमों के उल्लंघन के सिलसिले में केवटी थाने में मामला (Case) दर्ज किया गया है।

केवटी अंचलाधिकारी अजित कुमार झा ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि उन्हें जानकारी मिली कि राजद की एक बैठक हो रही है जिसकी प्रशासनिक अनुमति नहीं ली गयी. साथ ही इस बैठक में कोविड-19 के नियमों का पालन नहीं किया जा रहा है. इस सूचना पर स्थल निरक्षण किया गया, जहां 500 लोग इकट्ठा मिला. वहां सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन होते नहीं देखा गया. मात्र 10 प्रतिशत लोग ही मास्क पहने हुए थे. मंच पर लगभग 30 लोग थे, जिन्होंने कोविड- 19 के नियम का पालन नहीं कर रखा था।


अंचलाधिकारी ने कहा कि वीएसटी की टीम ने बैठक की वीडियोग्राफी की है. इसी के आधार राजद के जिलाध्यक्ष राम नरेश यादव और केवटी से राजद प्रत्याशी अब्दुल बारी सिद्दीकी सहित कई अज्ञात लोगों पर एफआईआर दर्ज की गयी है।

बिना मास्क और सामाजिक दूरी का पालन नहीं करने के सवाल पर राजद प्रत्याशी अब्दुल बारी सिद्दीकी ने कहा की वो खुद भी मास्क लगाते हैं और सभी लोगों को कोरोना के कारण चेहरे पर मास्क लगाने की अपील भी करते हैं. उन्होंने कहा कि उनके पास लोगों ने मास्क भेजा है, जिन्हें उनके कार्यकर्ता प्रचार के साथ-साथ जनता के बीच बांट भी रहे हैं।

Find Us on Facebook

Trending News