प्रखंड कार्यालय के सामने से चार महिला पंचायत समिति सदस्यों का अपहरण, प्रमुख के पद को बचाने के लिए बनाया बंधक

प्रखंड कार्यालय के सामने से चार महिला पंचायत समिति सदस्यों का अपहरण, प्रमुख के पद को बचाने के लिए बनाया बंधक

Navgachia: जिले में अपराधियों का मनोबल लगातार बढ़ता जा रहा है. अपराधी बेलगाम हो रहे हैं और सियासतदारों द्वारा भी अपने फायदे के लिए बकायदा अपराधियों का इस्तेमाल किया जा रहा है. इसी क्रम में नवगछिया पुलिस जिला के खरीक प्रखंड प्रमुख झाड़ी यादव पर लाये गये अविश्वास प्रस्ताव के दौरान प्रमुख पद को बचाने के लिए चार महिला पंचायत समिति सदस्यों के अपहरण करने का आरोप लगा है.

दरअसल आज खरीक प्रखंड कार्यालय परिसर में प्रमुख पद के खिलाफ लाये गये अविश्वास प्रस्ताव लिए विशेष बैठक आयोजित थी. बैठक में भाग लेने आ रही चार महिला पंचायत समिति सदस्यों को प्रखंड कार्यालय गेट के सामने से ही बोलेरो गाड़ी समेत अगवा कर लिया गया.

बता दें कि खरीक प्रखंड में कुल 17 पंचायत समिति सदस्य हैं. जिन्हें प्रमुख झारी यादव के खिलाफ लाये गये अविश्वास प्रस्ताव के लिए वोटिंग करना था. सभी पंचायत समिति समय प्रखंड कार्यालय के मेन गेट पर पहुंचे. लेकिन मेन गेट पर सुरक्षा में लगाये गये पुलिस जवान को तैनात किया गया था. जवान केवल सिर्फ पंचायत समिति सदस्यों को ही अंदर प्रवेश करने के लिए तैनात किया गया था. इसी दौरान समय से पहले बोलेरो में सवार होकर चार महिला पंचायत समिति सदस्य मुख्य गेट पर पहुची, लेकिन सुरक्षा में लगे जवानों ने समय पर ही प्रवेश करने की बात कह प्रवेश करने से रोक दिया.

इसी बीच महिला सदस्यों ने अपनी गाड़ी को साइड में लगाकर समय व्यतीत होने का इंतजार करने लगी. जिसका फायदा उठाते हुए वहां मौजूद बदमाशों ने बोलेरो चालक के पास जाकर बंदूक सटाते हुए अपने साथ अगवा करते हुए लेकर चले गये. कहा जाता है कि प्रखंड प्रमुख झारी यादव एवं उनके पुत्र ने क्षेत्र के दबंग बदमाशों को पहले से ही प्रखंड कार्यालय के पास मौजूद कर रखा था. बोलेरो गाड़ी पर पंचायत समिति सदस्य राघोपुर की कंचन कुमारी, भवनपुरा पंचायत की श्यामा देवी, वीणा देवी, पिंकी देवी पंचायत समिति सदस्य मौजूद थी. घटना की जानकारी मिलते ही प्रखंड कार्यालय में अफरा-तफरी का माहौल बन गया. अविश्वास प्रस्ताव लगाने वाले सभी पंचायत समिति सदस्यों ने प्रखंड विकास पदाधिकारी सुधीर कुमार के ऊपर आरोप लगाते हुए हंगामा करने लगे. बीडीओ के कार्यालय और पुलिस प्रशासन के सामने चार महिला पंचायत समिति सदस्यों के अपहरण पर सवाल करते हुए कुशलतापूर्वक बरामदगी की मांग करने लगे. 

सदस्य नीरज कुमार ने तुरंत पूरे वाक्ये की जानकारी नवगछिया एसपी स्वप्नाजी मेश्राम को फोन पर दी. उन्होंने एसपी को तुलसीपुर के तरफ गाड़ी लेकर भागने की जानकारी दी, जिसके बाद नवगछिया एसपी स्वप्नाजी मेश्राम ने त्वरित कार्रवाई करते हुए एसडीपीओ दिलीप कुमार, इंस्पेक्टर नर्मदेश्वर सिंह चौहान एवं थानाध्यक्ष पंकज कुमार को अगवा पंचायत समिति सदस्यों को शीघ्र बरामदगी का सख्त निर्देश दिया. जिसके बाद एसडीपीओ के नेतृत्व में पुलिस कूच की और झारी यादव के तुलसीपुर घर के पास से केला बागान में बोलेरो, स्कॉर्पियो को देखा. जिसके बाद बगल से घर में से पुलिस को देखकर महिला पंचायत समिति सदस्यों ने हल्ला मचाना शुरू किया. जिसके बाद इंस्पेक्टर और थाना अध्यक्ष ने बगल के घर से जाकर अपहृत महिला पंचायत समिति सदस्यों की सकुशल बरामदगी की. एसडीपीओ नवगछिया दिलीप कुमार ने बताया कि सभी महिला पंचायत समिति सदस्य को सकुशल बरामद कर लिया गया है. वहीं पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए विभिन्न ठिकानों पर छापेमारी कर रही है. मामले में दो को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है. मौके से पुलिस ने एक देसी कट्टा, दो कारतूस और एक अपाची गाड़ी बरामद की है.

Find Us on Facebook

Trending News