प्रयागराज के 'करोड़पति स्वीपर' की टीबी से हुई मौत, खाते में पड़े रह गए 70 लाख रूपये

प्रयागराज के 'करोड़पति स्वीपर' की टीबी से हुई मौत, खाते में पड़े रह गए 70 लाख रूपये

N4N DESK : यूपी के प्रयागराज में ‘करोड़पति स्वीपर’ के रूप के अपनी पहचान बना चुके शख्स की मौत हो गयी। बता दें प्रयागराज का धीरज जिला कुष्ठ रोग अस्पताल में स्वीपर के रूप में कार्यरत था। धीरज के पिता सुरेश चंद्र भी जिला कुष्ठ रोग विभाग में स्वीपर के पद पर कार्यरत थे। लेकिन नौकरी में रहते उसकी मौत हो गई थी। इसके बाद अनुकम्पा के आधार पर धीरज को दिसंबर 2012 में उसके पिता की नौकरी मिल गई। 


वह करोड़पति था, इसका खुलासा तब हुआ। जब इसी साल मई में बैंक वाले धीरज के घर पहुंचे थे। बताया गया की नौकरी में आने के बाद से धीरज ने कभी अपने अकाउंट से पैसे नहीं निकाले। उसके पिता भी जो पैसे छोड़कर गए थे। उसे भी वह अपने ही अकाउंट में भी रखता था। 

घर के खर्चों के वह माँ के मिले पेंशन को खर्च करता। वहीँ साथ काम करनेवालों लोगों से भी वह पैसे मांगता रहता था। कई बार लोग उसे शादी करने के लिए कहते तो वह इनकार कर देता। उसे डर था की उसका कोई पैसा न ले ले। रहने के लिए भी उसे अस्पताल में सरकारी मकान मिल गया था। इस तरह उसके अकाउंट में कुल 70 लाख रूपये जमा हो गए।  

लेकिन दुखद बात यह है की अचानक धीरज को टीबी की बिमारी हो गयी। लेकिन पैसे बचाने के लिए उसने कभी टीबी का इलाज नहीं कराया। इस बीच शनिवार को धीरज ने दम  तोड़ दिया। लोगों ने बताया की वह हमेशा इनकम टैक्स जमा करता था। दिमाग से थोड़ा कमजोर था। लेकिन ड्यूटी पूरी मुस्तैदी से करता था।   ख़ास बात यह की वह शायद ही कभी ड्यूटी से छुट्टी लेता था। 

Find Us on Facebook

Trending News