नवादा में निजी अस्पताल ने एक ही रात में ली मोटी रकम, दूसरे दिन रुपये नहीं देने पर मरीज को हॉस्पिटल से निकाला

नवादा में निजी अस्पताल ने एक ही रात में ली मोटी रकम, दूसरे दिन रुपये नहीं देने पर मरीज को हॉस्पिटल से निकाला

नवादा. जिले में एक निजी अस्पताल द्वारा एक रात में 20 से 25 हजार रुपये लेने और दूसरे दिन रुपये नहीं देने पर मरीज को अस्पताल से बाहर निकालने का मामला सामने आया है। मिली जानकारी के अनुसार शनिवार की रात्रि एक बार फिर दलालों ने एक मरीज के परिजन को झांसा देकर नवादा के प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती करा दिया था। यहां मरीज से रात भर में 20 से 25 हजार रुपये ले लिये गये। रविवार को रुपये नहीं देने पर मरीज को हॉस्पिटल से निकाल दिया।

बताया जा रहा है कि रोह थाना क्षेत्र के भट्ठा गांव निवासी मनोज चौधरी की पत्नी संगीता देवी को सांस लेने में दिक्कत हो रही थी, जिसे परिजनों ने इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया था, लेकिन सदर अस्पताल में भर्ती होने से पहले इमरजेंसी गेट के पास से दलाल मरीज के परिजन को बहला-फुसलाकर और अस्पताल में कोई व्यवस्था नहीं रहने की बात का उसे नवादा के प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती करा दिया। जहां उससे रात भर में 20 से 25 हजार रुपये इलाज के नाम पर ले लिया गया। रविवार को  मरीज के परिजन से फिर रुपये की डिमांड की गयी। इसके बाद परिजन हाथ जोड़कर कहा कि मेरे पास अब पैसे नहीं है, तब उसे वहां से निकाल दिया गया। इसके बाद पुनः मरीज को लेकर सदर अस्पताल पहुंच गये। फिलहाल सदर अस्पताल में महिला का इलाज जारी है।

बता दें कि प्रतिदिन दलाल सदर अस्पताल में मंडराते रहते हैं। जब मौका मिलता है, तब मरीज को सदर अस्पताल से उठाकर प्राइवेट क्लिनीक में भर्ती करा देता है। पूरे अस्पताल दलालों के चंगुल में है। डॉक्टरों की मिलीभगत से ही गरीब व्यक्ति को लूटने का काम किया जाता है। सदर अस्पताल का यह पहला मामला नहीं है। इस तरह का मामला सदर अस्पताल में कई बार देखने को मिला है।

पैसे का विवाद गलत

प्राइवेट अस्पताल के संचालक डॉ रामकुमार ने बताया है कि यह बिल्कुल बेबुनियाद है देर रात भर्ती हुआ सबसे पहले ऑक्सीजन की कमी थी हमने ऑक्सीजन लगाया और बेहतर इलाज कराया। ठीक होने के बाद मरीज यहां से चले गए पैसा की बात बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं। सबसे पहले मरीज की हम लोग सेवा करते हैं।

Find Us on Facebook

Trending News