नवादा में शराबबंदी को ठेंगा, नशे की हालत में पुलिस ने मुखिया को किया गिरफ्तार, शराब पीकर कर रहा था हंगामा

नवादा में शराबबंदी को ठेंगा, नशे की हालत में पुलिस ने मुखिया को किया गिरफ्तार, शराब पीकर कर रहा था हंगामा

नवादा. बिहार में पूर्ण रूप से शराबबंदी कानून लागू है। इसको सफल बनाने के लिए हाल ही में त्रिस्तरीय पंचायती चुनाव में जीतने वाले नव निर्वाचित मुखिया और जनप्रतिनिधियों ने शराब न पीने और न पीने देने की शपथ ली थी। लेकिन शपथ लेने के बावजूद कुछ जनप्रतिनिधि शराबबंदी कानून को ठेंगा दिखाते हुए नजर आ रहे हैं। इस कड़ी में सदर प्रखंड में जमुआवां पटवासराय के मुखिया वीरेंद्र माझी को शराब के नशे में गिरफ्तार किया गया है।

बताया जा रहा है कि पटवासराय गांव में मुखिया वीरेंद्र मांझी शराब पीकर हंगामा कर रहा था, तभी स्थानीय लोगों ने इसकी सूचना कादिरगंज पुलिस को दी। इसके बाद पुलिस बिना समय गवाएं मौके पर पहुंचकर मुखिया को गिरफ्तार कर लिया। उस समय वह शराब के नशे में धुत था। फिलहाल पुलिस गिरफ्तार मुखिया पर उत्पाद अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज कर आगे की कार्रवाई में जुट गई है।

इन दिनों लगातार पुलिस के द्वारा बड़े पैमाने पर शराब माफियाओं और शराब पीने वालो पर शिकंजा कसा जा रहा है, लेकिन जनप्रतिनिधि सरकार की आदेश का धज्जियां उड़ा रहे हैं। इस पूरे मामले पर कादिरगंज थाना प्रभारी सूरज कुमार ने बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर कार्रवाई की गई है। शराब के नशे में मुखिया को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने कहा है कि कितने भी बड़े नेता रहे अगर वह दोषी है तो उनके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

Find Us on Facebook

Trending News