भारत की पीवी सिंधु ने रचा इतिहास, 56 साल में पहली बार भारत को दिलाया सिल्वर

भारत की पीवी सिंधु ने रचा इतिहास, 56 साल में पहली बार भारत को दिलाया सिल्वर

N4N Desk: भले ही सिंधु गोल्ड पर कब्ज़ा करने में नाकाम हो गई हो, लेकिन हारकर भी उन्होंने इतिहास रच दिया। 18वें एशियन गेम्स में भारत की स्टार शटलर सिंधु ने भारत के खाते में सिल्वर दर्ज कर दिया है. वह महिला सिंगल्स के फाइनल में वर्ल्ड नंबर-1 चीनी ताइपे की ताई जु यिंग की चुनौती ध्वस्त नहीं कर पाईं. सिंधु एशियाई खेलों में बैडमिंटन के 56 साल के इतिहास में रजत पदक जीतने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी बन गईं.

मंगलवार को जकार्ता में 23 वर्षीय सिंधु फॉर्म में नज़र नई आ रही थीं. भारतीय खिलाड़ी को रैंकिंग में दुनिया की सर्वश्रेष्ठ शटलर ने महज 34 मिनट में 13-21, 16-21 से मात दी. सिंधु ने यिंग के हाथों लगातार छह मुकाबले गंवाए, जिससे यिंग के पक्ष में रिकॉर्ड 3-10 हो गया. आखिरी मुकाबले में सिंधु ने बाज़ी खो दी यिंग ने 10वीं बार बाजी मारी.

एशियाई खलों के बैडमिंटन के इतिहास में भारत के कुल पदकों की संख्या (10) में पहला रजत पदक शामिल हुआ और गोल्ड मेडल का इंतजार और लंबा हो गया. साइना नेहवाल ने सोमवार को महिला सिंगल्स के सेमीफाइनल में हारकर भारत के लिए कांस्य जीता था.

पीवी सिंधु का यह रिकॉर्ड रहा है कि वे फाइनल गेम हमेशा हार जाती हैं.

2018 , एशियन गेम्स फाइनल में ताई जु यिंग से हारीं

2018, कॉमनवेल्थ गेम्स फाइनल में साइना नेहवाल से हारीं

2018, वर्ल्ड चैंपियनशिप फाइनल में कैरोलिना मारिन से हारीं

2017, वर्ल्ड चैंपियनशिप फाइनल में नोजोमी ओकुहारा

2016, रियो ओलंपिक फाइनल में कैरोलिना मारिन से हारीं


   

Find Us on Facebook

Trending News