महाबोधि मंदिर की सुरक्षा पर सवाल: सिपाही के बैग और झाड़ियों में मिली शराब की खाली बोतलें, एसएसपी ने कहा- होगी विभागीय कार्रवाई

महाबोधि मंदिर की सुरक्षा पर सवाल: सिपाही के बैग और झाड़ियों में मिली शराब की खाली बोतलें, एसएसपी ने कहा- होगी विभागीय कार्रवाई

GAYA : बिहार के बोधगया स्थित अंतरराष्ट्रीय धरोहर महाबोधि मंदिर की सुरक्षा पर एक बार फिर सवाल उठे हैं. इस मंदिर की सुरक्षा को पुख्ता किया गया है. यहां एक-एक सामान स्कैन कर ही अंदर ले जाए जा सकते हैं, किंतु गया एसएसपी को मिले इनपुट के आधार पर हुई कार्रवाई में महाबोधि मंदिर के परिसर से सिपाही के बैग से शराब की खाली बोतल मिली. वहीं चार और बोतल परिसर की झाड़ियों से मिले हैं. इससे यह बिंदु भी इंगित होता है कि महाबोधि मंदिर के अंदर अब भी मिलीभगत कर कुछ भी ले जाया जा सकता है. इस तरह यह मामला मंदिर सुरक्षा की व्यवस्था पर भी सवाल है. इस मामले को लेकर गया एसएसपी हरप्रीत कौर ने त्वरित कदम उठाते हुए विभागीय कार्रवाई के लिए बीएमपी प्रशासन को लिखा है.

महाबोधि मंदिर के परिसर से मिली शराब की खाली बोतलें

मिली  जानकारी के अनुसार महाबोधि मंदिर के अंदर शराब के सेवन की सूचना मिल रही थी. इस मामले को लेकर एसएसपी हरप्रीत कौर ने जांच के लिए बोधगया एसडीपीओ और बीएमपी के एएसपी को भेजा था. जांच के दौरान बड़े चौंकाने वाले मामले का खुलासा हुआ. इस दौरान बीएमपी के एक सिपाही के बैग से शराब की खाली बोतल मिली. वही परिसर में ही रहे मेस और बैरक के झाड़ियों के समीप से 4 और खाली शराब की बोतलें मिली. हालांकि शराब की खाली बोतले मिलने के कारण फिलहाल किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है, लेकिन शराब की खाली बोतलें के आधार पर यह पूरी शंका है कि महाबोधि मंदिर परिसर में शराब का सेवन होता है. 

बीएमपी सिपाही, स्कैनिंग कर्मी समेत अन्य के खिलाफ होगी विभागीय कार्रवाई

यही वजह है कि पूर्व से ही इसकी सूचनाएं मिल रही थी और फिर गया एसएसपी के निर्देश पर हुई कार्रवाई में इस तरह का खुलासा हुआ. अब इसे लेकर महाबोधि मंदिर की सुरक्षा में तैनात सुरक्षाकर्मियों और कर्मचारियों की भी ब्रेथ एनालाइजर से जांच शुरू कर दी गई है. इस मामले को गंभीरता से लेते हुए गया एसएसपी हरप्रीत कौर ने कार्रवाई के लिए बीएमपी प्रशासन को पत्र लिखा है. त्वरित विभागीय कार्रवाई किए जाने की बात कही गई है.

बाहर की सुरक्षा गया पुलिस और अंदर की सुरक्षा बीएमपी (BSAP) करती है.

गौरतलब हो कि महाबोधि मंदिर के अंदर की सारी सुरक्षा का जिम्मा बीएमपी जो अब बी सैप यानि बिहार स्पेशल आर्म्स पुलिस के नाम से जानी जाती है, के जिम्मे है. वहीं मंदिर के बाहर के परिसर की सारी जिम्मेदारी गया पुलिस की है. ऐसे में महाबोधि मंदिर के अंदर की परिसर से शराब की खाली बोतलों से मिलने के बाद बीएसएफ के सिपाही, स्कैनर समेत अन्य चिन्हित पर कार्रवाई की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है. इसे लेकर एसएसपी हरप्रीत कौर ने बीएमपी अधिकारी को लिखा है.

अभेद्य सुरक्षा का दावा किया जाता है

इस तरह महाबोधि मंदिर की सुरक्षा अभेध होने के दावे किए जाते हैं, लेकिन इस तरह का मामला आने के बाद एक बार फिर से यह दावा खोखला साबित हुआ है. यहां तो शराब की कई खाली बोतलें मिली है. हालांकि बीएमपी सिपाही के पास से शराब की खाली बोतल मिलने के बाद भी फिलहाल उसकी गिरफ्तारी इसलिए नहीं हो सकी है, क्योंकि उसमें शराब नहीं थी. हालांकि यह तय माना जा रहा है, कि उक्त बीएमपी सिपाही, स्कैनर समेत चिन्हित अन्य के खिलाफ बड़ी कार्रवाई होगी. 

नाम की शराबबंदी, विश्व धरोहर मंदिर के अंदर के परिसर को भी नहीं छोड़ रहे

बिहार में पूर्ण शराबबंदी लागू है. किंतु इस शराबबंदी को लेकर आए दिन वाले सवाल उठते रहते हैं. महाबोधि मंदिर के अंदर परिसर में शराब पिए जाने की सूचना मिल रही थी. हालांकि कार्रवाई में शराब तो बरामद नहीं हो सकी, लेकिन शराब की कई खाली बोतलें मिली है. इससे यह स्पष्ट हो जाता है, कि महाबोधि मंदिर के अंदर के परिसर में भी शराब का सेवन किया जाता है.

विभागीय कार्रवाई को कहा गया है: एसएसपी

इस संबंध में गया एसएसपी हरप्रीत कौर ने बताया कि महाबोधि मंदिर के अंदर के परिसर से शराब की खाली बोतलें मिली है. एक खाली शराब की बोतल बीएमपी सिपाही के पास से बरामद की गई. वही तीन खाली शराब की बोतलें मेस और बैरक के समीप रहे झाड़ियों से मिले हैं. पूरे मामले की जांच कराई जाएगी. वहीं इस मामले को लेकर फिलहाल बीएमपी सिपाही, स्कैनर समेत अन्य के खिलाफ विभागीय कार्रवाई को संबंधित विभाग को लिखा गया है. चूंकि महाबोधि मंदिर के अंदर की सारी सुरक्षा व्यवस्था बीएमपी ही देखती है. 

गया से मनोज कुमार की रिपोर्ट  

Find Us on Facebook

Trending News