राहुल गाँधी का अपने धर्म पर बड़ा खुलासा, क्यों नहीं मानते खुद को हिंदुत्ववादी

राहुल गाँधी का अपने धर्म पर बड़ा खुलासा, क्यों नहीं मानते खुद को हिंदुत्ववादी

जयपुर. राहुल गाँधी ने रविवार को अपने धर्म और धार्मिक मान्यताओं पर बड़ा खुलासा किया. जयपुर में 'महंगाई हटाओ रैली' को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि मोदी ने पिछले सात साल में देश को बर्बाद कर दिया. मोदी और उनके कुछ तीन चार मित्रों ने मिलकर देश को हर मोर्चे पर कमजोर किया है. 

राहुल यहीं नहीं रुके उन्हें अपने धर्म को लेकर कहा कि वे हिंदू हैं लेकिन हिंदुत्ववादी नहीं हैं. हिंदू और हिंदुत्ववादी के बीच का अंतर बताते हुए राहुल ने कहा कि महात्मा गांधी हिंदू थे और नाथराम गोडसे हिंदुत्ववादी. आज देश को महंगाई का दर्द देने का काम हिंदुत्ववादियों ने किया है. हिंदुत्ववादियों को किसी भी हालत में सत्ता चाहिए. इसलिए मैं कहता हूँ, मै हिंदुत्ववादी नहीं, मैं हिंदू हूं. 

उन्होंने कहा कि हिंदू और हिंदुत्ववाद दो अलग अलग शब्द हैं. जिस तरह से दो जीवों की एक आत्मा नहीं हो सकती, वैसे ही दो शब्दों का एक मतलब नहीं हो सकता क्योंकि हर शब्द का अलग मतलब होता है. उन्होंने कहा कि हिंदू वह है जो किसी से नहीं डरता जो सबको गले लगता है.

उन्होंने कहा कि भारत हिंदुओं का देश है, हिंदुत्ववादियों का नहीं है. 2014 से देश में हिंदुत्ववादियों का राज है, अब हिंदुओं का राज वापस लाना है. राहुल ने देश को हिंदुत्ववादियों से सचेत रहने की बात कही. 

Find Us on Facebook

Trending News